PayTm Digital Gold क्या है,1 रूपए में कैसे ख़रीदे Paytm Gold

PayTm Digital Gold क्या है,1 रूपए में कैसे ख़रीदे Paytm Gold

दोस्तों आप सभी paytm तो चलाते ही होंगे। क्या आपको पता है paytm से आप गोल्ड यानि सोना भी खरीद सकते है। जी हाँ , दोस्तों अब paytm हम भारतीय के लिए एक अच्छा सेविंग व इन्वेस्टमेंट करने का तरीका लाया है। Paytm आपने ग्राहकों को के लिए Digital Gold की स्कीम लाया है जो आपको 24 कैरट 999.9 की शुद्ध सोना खरीदने को मिलेगा। इसकी खास बात यह है की अब आप 1 रूपए  से लेकर लाख तक का सोना खरीद सकते है।

introduction about paytm digital gold


#PaytmGold- DigitalGold भी कह सकते है। क्योकि ये गोल्ड आपके Paytm wallet में जमा रहेगा। बाद मे आप चाहो इसे अपने घर पर भी माँगा सकते है। या फिर Paytm से ही बेच सकते है। अच्छे कीमतों बढ़ने पर।

अपने भविष्य के लिए और अपने परिवार की जरूरतों के लिए पैसों को बचत य Saving करके रखते है। कोई अपने पैसे बैंक में जमा कर रखता है, कोई प्रॉपटी पर पैसे लगा कर रखता है वगैरह वगैरह। हम सभी को पता है की सोना यानि Gold एक अच्छा Saving व Investment  करने का तरीका होता है। जिसे हम बाद में जरुरत पड़ने पर उसे बेच सकते है। PaytmGold में भी Saving और Investment कर आपने पैसे को सुरक्षित कर सकते है। जैसा की मेने बताया 1 रूपए में भी आप PaytmGold Buy कर सकते है। 

आप अपने सेविंग या बचत के हिसाब से PaytmGold खरीद कर जमा कर सकते है। और जरुरत परने पर या कीमत बढ़ने पर उसे बेच सकते है। या फिर अपने घर पर real Gold  मंगवा सकते है। वो कैसे करना हो वो हम निचे बतएने।

जब गोल्ड आपके पेटम वॉलेट में होता है तब आपको उसका मेकिंग चार्ज नहीं देना पड़ता है। जब आप गोल्ड को अपने घर पर Delivery करवाएंगे तब मेकिंग चार्ज देना होगा। 

चलए इसके बारे में थोड़ा Details में जान लेते है। की PaytmGold- DigitalGold क्या है? और कैसे काम करता है? कैसे खरीद सकते है कैसे बेच सकते है? Orignal या Real Gold घर पर delivery कैसे पा सकते है ?


Paytm Gold क्या है, जानकारी हिंदी में। 

PaytmGold को हम Online Gold या Digital Gold के नाम से जान सकते है। PaytmGold की स्कीम को अक्षय तृतीया के मौके पर इस सुविधा को Launch किया। PaytmGold से आप 24 कैरट, 999. 9 शुद्ध सोना खरीद सकते है। PaytmGold की खास बात यह है की आपको 1 रूपए का भी सोना मिलेगा। जो की आपके Paytm Wallet (Locker) में Store करके के रख सकते है। और अपने सेविंग(income) के अनुशार आप गोल्ड को खरीद कर रख सकते है जब ये एक Big Amount(ज्यादा रकम,रूपए ) में हो जाये तो PaytmGold को Coin के रूप में अपने घर मंगवा सकते है याफिर सोने की कीमत बढे पर Paytm से ही बेच सकते है। 

PaytmGold की स्कीम को सफल बनाने के लिए देशी व विदेशी कंपनी के साथ Partnership की है।
MMTC (Metal and Minerals Trading Corporation of India) or
PAMP (Produits Artistiques Meteux Precieux)
MMTC भारतीय कंपनी जय जबकि PAMP स्विज़रलैंड की कंपनी है।

Features of paytm digital gold

50 हजार से ज्यादा की खरीद पर देना होगा KYC व पैन कार्ड . 

सोना खरीदने के लिए Paytm में, उपभोक्‍ता को अपना नाम, मोबाइल नम्‍बर, पिन कोड Register करना होता है। अगर Transaction 50 हजार तक का है तो KYC Documents देने होगा और अगर 2 लाख तक का Transaction है तो पैन कार्ड Submit करनी होगी।
KYC कैसे देना है :- यहाँ क्लिक करे। How to complete your KYC process . 

Important tips: Paytmसे सोना खरीदने से पहले आप अपने paytm account को अच्छी तरह से वेरीफाई कर ले। अपने मोबाइल,ईमेल को अच्छी तरह से verify करले ताकि Paytm में आगे चलते आपको कोई problem का सामना न करना पड़े। 

PayTm Gold कैसे ख़रीदे पूरी जानकारी। 

Paytm Gold-Digital gold को कैसे खरीदना है। आपको लग रहा है की  गोल्ड को खरीदने के लिए बहुत से डाक्यूमेंट्स की जरुरत है ! बिलकुल टेशन न लीजिए आपको कोई भी डाक्यूमेंट्स की आवश्यकता नहीं है।
paytm से आप जैसे बिल जमा करते है, मूवीज टिकट बुक करते है ठीक वैसे ही आपको Gold buy करने के लिए करना है। वैसे तो में निचे Steps से समझा रहा हु आप देख सकते है।  

आप मेरे Steps को फॉलो करे

Step1: Login Your Paytm account
Step2: Go To Home and click Gold

paytm gold

Step3: अब आपको Buy Gold का बटन दिख रहा है। 

live rate of gold

red बॉक्स के अंदर आपको गोल्ड का Live Rate दिख रहा है इसमें Making Charge नहीं जुड़ता है। क्योकि ये Digital Gold के रूप में आपके e wallet में store रहेगा ।

Step4: अगला पेज में आपको गोल्ड कैसे खरीदना है वो पूछ रहा है। Buy in Rupees & Buy in Grams ये दो ऑप्शन आपको दिखेगा आप गोल्ड को रुपए में और ग्राम में खरीद सकते है। 

enter amount

अपना Amount या Gram भरने के बाद Proceed बटन पर click कर दें।  और इस पेज में आपको वैल्यू दिखा देखा की कितने रूपए का कितना ग्राम मिलेगा। 
Step5: last n final अपने पेमेंट मेथड को सेलेक्ट करके पेमेंट कर दीजिये। 

अपने गोल्ड को देखना चहिते है तो दोबारा Gold के ऑप्शन पर जाये। 

your gold

आपको वह अपने गोल्ड के लाइव प्राइस भी दिखेग। की इस टाइम अभी गोल्ड का क्या रेट चल रहा। अब चलिए देखते है की गोल्ड को कैसे बेचा जाये या उसे अपने घर Delivery कैसे करे। अपने घर कैसे मंगवाए। 

How Sell Paytm Gold and How Get Delivery your Own Address

यदि आप Paytm Gold को बेचना चाहते है तो आपको 10 रूपये IMPS का चार्ज लगता है जो की आपके बैंक में ट्रांसफर करने के कारन लेता है। और घर पर डिलीवरी पाने के लिए गोल्ड को कॉइन के रूप में लाने के लिए आपको मेकिंग चार्ज देना होगा फिर आपको आपका सोना आपके घर पर डिलीवरी कर दिया जायेगा। ये प्रोसेस बहुत ही easy है। 
Step1: यदि आपको Paytm Gold Sell करना हो। Sell Gold पर क्लिक करे। इसका ऑप्शन आपको Gold में ही मिलेगा। 
you want to sell gold
अपने ख़रीदे हुए गोल्ड पर क्लिक करे। 

you want to sell gold
आपको अपना गोल्ड दिख रहा है ऊपर बॉक्स में अब आप को sell करना है तो Sell Gold बटन पर क्लिक करे। 

enter your banks details
ये पैसे आपके बैंक अकाउंट में जायेंगे इसलिए अपना बैंक्स के डिटेल्स को सही से भरे और प्रोसीड पर क्लिक कर दे। 

Step2 : यदि आप सोना अपने घर पर डिलीवरी चाहते है तो यहाँ GET Delivery पर क्लिक कर दे।  ये ऑप्शन आपको Gold में ही मिलेगा। 
you want to get your real gold
Get Delivery के बारे में थोड़ा बताना चाहूंगा। डिलीवरी आप तभी कर सकते है जब आपके पास 1 ग्राम से अधिक का सोना हो। और इसमें आपको मेकिंग चार्ज देना होगा। क्योकि जब आपने गोल्ड को ख़रीदा था तब यह digitally था तब आपसे मेकिंग चार्ज नहीं लिया जाता।
अधिक जानकारी के लिए :- https://paytm.com/digitalgold/redeem

आपने jewelry शॉप से कई golds के jewelry बनवाये होंगे।  वे भी उस jewelry को डिज़ाइन के अनुशार बनाने के लिए आपसे मेकिंग चार्ज लेते है।  ठीक इसी तरह Delivery के समय आपसे उस गोल्ड का मेकिंग चार्ज लिया जायेगा। आप जब Get Delivery पर जाते है अगले पेज पर आपको बहुत से कॉइन के डिज़ाइन दिखा होगा वह सबके मेकिंग चार्ज दिए होते है। सभी कॉइन के अलग अलग मेकिंग चार्ज तथा कितने ग्राम में कोनसा कॉइन बन सकता है वह mention किया होता है। 

तो आप अच्छी तरह समझ गए होंगे की कैसे खरीदना है कैसे बेचना है और कैसे घर लाना है।


🌟 में अपनी एक राय सभी दोस्तों व स्टूडेंट्स के साथ साझा करना चाहता हु। की आप अपने पॉकेट के खर्चे (10,50,100)में से कुछ पैसे Paytm Gold में रखे। और थोड़ा थोड़ा करके Paytm Gold को स्टोर करे। ताकि आपके future में ये पैसे काम आ सके। इन पैसो को आप अपने जरूरतों को पूरा कर सकते है। क्योकि Students Life में बहुत सी प्रॉब्लम होती रहती है। में भी आप ही की तरह एक Student ही हु। 

उम्मीद है आपको ये money saving, Paytm gold Digital Gold की पोस्ट Helpful व informative लगी। आप अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को साझा करे व आपकी राय, सुझाव  या कोई सवाल हो तो निचे कमेंट करें।    
Blog बनाने से पहले किन बातों का ध्यान रखे

Blog बनाने से पहले किन बातों का ध्यान रखे

नमस्कार दोस्तों, में आपका HindiArticle पर स्वागत करता हु यहाँ पर हम आपके लिये Daily Technology, Internet से जुडी कई सारी Interesting जानकारी लाते है,, आज भी हम आपके लिये कुछ खास जानकारी लाये है, जो है Blogging से जुडी जी हाँ , आज हम आपके लिए एक खास जानकारी लाये है, जो शायद आपको पता होनी चाहिए और यदि आप एक ब्लॉग बनाना चाहते है तो इस पोस्ट को एक बार जरूर पढ़े।

Blog बनाने से पहले किन बातों का ध्यान रखे

यदि आप एक ब्लॉग बनाने के बारे में सोच रहे है तो आपको  Blogging के बारे में जानकारी  होगी Blogging Online famous और पैसे दोनों कमाने का एक Best तरीका है जिसमे हम एक Website को हैंडल करके अच्छे पैसे कमा सकते है।

Blogging से आप काफी अच्छे पैसे कमा सकते हो, अलग अलग तरीके से.. लेकिन उसके लिए हमारी वेबसाइट हर तरह से परफ़ेक्ट होनी चाहिए, हमारा एक लक्ष्य,प्लानिंग होनी चाहिए। आज मै आपको बताऊंगा की "Blog बनाते समय किन किन बातो का विशेष ध्यान रखे "


Blog बनाने से पहले किन बातों का ध्यान रखे। 

Planning करे 
आप बोग्गिंग में अपना करियर बनाने की सोच रहे है तो आपके पास complete plan/Idea होना जरुरी है। की आप अपने ब्लॉग में किस किस्म के content को रोजाना शेयर कर सकते है। और बाकि ब्लॉग से आपका ब्लॉग Unique केसे बन सकता है।

ब्लॉग बनाना कोई मुस्किल काम नही है लेकिन एक ब्लॉग को चलने के लिए आपके पास हर वक्त कुछ नया होना जरुरी है। आपका ब्लॉग किसी एक specific topic पर काम करना चाहिये "जैसे मान लेते है की आपका ब्लॉग क्रिकेट के ऊपर है। और आप उसमे cooking, traveling, इत्यादि" के ऊपर पोस्ट डालते है तो दरसल ये गलत होगा और आपके विसिटोर्स चले जायेंगे। इसलिए आपके ब्लॉग का एक specific topic होना जरुरी है।

इसलिए एक न्य ब्लॉग स्टार्ट करने के लिए planning जरुरी है। ब्लॉग के लिए ideas और Topics कैसे खोजें  इस पोस्ट पढ़िए।

🌑 AIM: ब्लॉग्गिंग के करियर में आपका aim या लक्ष्य होना बहुत ही जरुरी होता है। क्योकि जब तक आपका कोई लक्ष्य नहीं होगा तब तक आप ब्लॉग्गिंग में कामयाब नहीं है। इसलिए अपना AIM/लक्ष्य सेट करे।

  • कभी भी किसी ब्लॉग को कॉपी न करे। हमेशा unique content ही शेयर करे। 
  • अपने लक्ष्य को फोकस करे किसी अन्य चीजों पर फोकस से आपका दिमाग डाइवर्ट हो सकता है और आपके blogging करियर को नुकशान हो सकता हैं। भले ही आप part time ब्लॉगर है। अपने टॉपिक के ऊपर फोकस करे। 
  • सुरुआत में blogging से पैसे कमाने की जो सोच है उसे भूल जाये सिर्फ अपने content/topic के ऊपर ही ध्यान दे बाद में अपने आप आपको, आपका ब्लॉग अच्छा पैसा देगा। 


Domain Name

डोमेन का हमको Blog बनाते टाइम काफी ध्यान रखना होता है क्योंकि Domain Name ही हमारे ब्लॉग की पहचान होता है, अगर हम Domain Name खरीदते समय ध्यान नही रखेंगे तो शायद Success हो पाने में काफी समय लगे।

डोमेन खरीदते समय हमें निम्न बातो का ध्यान रखना चाहिए।

● वो डोमेन किसी साइट से मिलता जुलता ना हो

दोस्तों ये सबसे ज्यादा ध्यान में रखने वाली चीज है कि हमारी साइट का डोमेन किसी Other Site से मिलता जुलता नही हो क्योंकि अगर ऐसा होता है तो हमारी साइट Rank नहीं कर पाती आसानी से, क्योंकि वो दूसरी साइट ही Search Engine में रैंक करती है

अगर मिलता जुलता नाम ले लेते है तो लोग भी हमें Copy करने वाले समझते है और हमारी Website पर विजिट नहीं करते।

● डोमेन का नाम Website के Topic पर ही होना चाहिए

दोस्तो, ये चीज़ भी बहुत मायने रखती है- जैसे अगर  हमारा ब्लॉग पर Food Recipe के ऊपर  है और हम डोमेन Name ले रहे है  "BhojpuriSong.com"या फिर बिलकुल अलग तो इससे Ranking में Effect पड़ता है। रैंकिंग छोड़िये विसिटोर्स ही नहीं आते ऐसे ब्लॉग पे जिसमे  डोमिन किसी और के नाम से और काम कुछ और हो रहा है।

आप देख सकते है ज्यादातर Success Sites का नाम मिलता जुलता ही होता है, जैसे हम इस साइट पर Hindi में Articles डालते है और हमारा पूरा फोकस हिंदी भाषा ही है, तो हमारी साइट का नाम है HindiArticles.Com है।

हमारे इंडिया के टॉप हिंदी ब्लॉग जो की ब्लॉग्गिंग सिखाती है। आप इसे पढ़े और जानिए ब्लॉग्गिंग कैसे किया जाता है।

● Domain Name छोटा हो

दोस्तो, कुछ लोग अपनी Website के डोमेन name के लिए बहुत बड़ा नाम choose कर लेते है और इसकी सजा उन्हें बाद में भुगतनी पड़ती है।

क्योंकि छोटी URL ही जल्दी Rank करती है, और हमारे visitors को याद रखने में भी आसानी होती है। जैसे अगर आप Food पे ब्लॉग बनाते है तो आप HindiArticlesPerfactfoodracipie.com की जगह MyFoodracipie.com ले तो ज्यादा अच्छा होगा। डोमिन नाम जितना छोटा होगा उतना ही याद रखने में आसानी होगी। एक डोमिन 15 words तक रखना अच्छा होता है। और सर्च में अच्छा रिजल्ट मिलता है।

Blogging Platform

Blogging करने के लिए यानी अपनी Website बनाने के लिए Internet पर बहुत सारे Platform है लेकिन उनमें से ज्यादातर बहुत ही बेकार है,, और लायक नहीं है।

कुछ लोग ऐसे Platforms पर अपने ब्लॉग बना लेते है जिनपर उन्हें नहीं बनाना चाहिए था, फिर उन्हें बाद में इसके लिए परेशानी झेलनी पड़ती है।

इसलिए अगर आपको Blog बनाना है तो में आपको Blogger और Wordpress ही Highly Recommend करूँगा.. क्योंकि ये दोनों की Blogs के लिए सबसे Best platform  है। Blogger और Wordpress के compression के बारे में जानना है तो क्लिक करे

और अगर आपको कोई downloading वेबसाइट या कोई Song Download Site बनानी है तो में आपको Joomla और Wapka ही Suggest करूँगा।



Hosting/Server 

दोस्तों, अगर आप Direct Website किसी Best और Free Platform जैसे Blogger आदि पर बनाते हो तो आपको कोई दिक्कत नही है, लेकिन अगर आप वेबसाइट Self Hosted Platform जैसे Wordpress, Joomla आदि पर बनाना चाहते हो तो आपको कुछ बाते ध्यान में रखनी पड़ती है।

● अपनी साइट के ट्रैफिक के हिसाब से Web Hosting ख़रीदे

दोस्तों, Site के Traffic पर ही पूरी साइट निर्भर करती है, जैसे अगर आपका ट्रैफिक केवल 500 से 5000 तक है आपका ब्लॉग नया है तो आप अभी बहुत ही काम पैसो से होस्टिंग ले सकते है। अपने भारत के बहुत से कंपनी बहुत ही काम पैसों में होस्टिंग देती है लगभग 1200 ₹ per year तो आप कोई सी भी Web hosting ले सकते हो।

लेकिन अगर आपकी वेबसाइट का Traffic 10000 से भी ज्यादा है तो आपको अच्छी Quality वाली Hosting या server  लेनी होती है। जैसे Hostgator की Hosting, Cloudfare की hosting

और अगर आपका ट्रैफिक बहुत ही अधिक यानि लाखो में है तो आपके लिए Kinsta की Hosting सबसे बेस्ट रहेंगी। जोकि cloud based hosting होती है और बहुत ही powerful होस्टिंग होती है।

● Customer सपोर्ट की service हो

अगर आपकी Hosting आपको Customer Support की सर्विस नहीं देती तो मेरे हिसाब से वो बेस्ट हो ही नही सकती, क्योंकि अगर आपकी वेबसाइट में दिक्कत आ जाये तो वो आपकी प्रॉब्लम को Solve नही कर पाएंगे और फिर आप फास जाओगे

ऐसा भी हो सकता है कि घटिया Hosting की वजह से आपकी साइट ही डिलीट हो जाये, और आपकी सारी मेहनत पर पानी फिर जाए..

एक से अधिक डोमेन Add करने की सुविधा हो

कई बार ऐसा होता है की हमारी साइट में हमें Domain Add करने की दिक्कत आ जाती है लेकिन कई घटिया Hosting प्रोवाइडर में हम यह नही कर पाते तो आपको कन्फर्म होना जरूरी है कि आने वाले time में हमारी Hosting में हम आगे Domain भी ऐड कर सके।

● cPanel की सुविधा होनी चाहिए

दोस्तों, अगर आपकी Hosting Provider साइट आपको cPanel नही देती तो में Suggest करूँगा की उसे कभी भी मत ख़रीदे..

क्योंकि आज के टाइम में जो साइट cPanel की सुविधा नही दे वो बहुत बेकार होगी, क्योंकि cPanel से हम अपनी साइट को बहुत आसानी से Control कर सकते है.. अगर आप भी कोई Hosting Buy कर रहे है तो चेक कर ले की उसमे cPanel है या नही।

🌟 Beginners के लिए कुछ Tips/suggestion  
में जनता हु की आप ब्लॉग जरूर बनाएंगे नहीं तो आप इस पोस्ट को पढ़ते नहीं। हमसे जितना हो पायेगा हम आपकी ब्लॉग्गिंग में मदद जरूर करेंगे। यदि आप wordpress सीखना चाहते है, जानकारी लेना चाहते है। तो आप #Gyanians.com पर जाकर वहां आप वर्डप्रेस को सिख सकते है। ये हमारे अच्छे मित्र भी है और trusted information देते है। इसलिए आप इनकी वेबसाइट पर जाकर ब्लॉग को कैसे बनाना है सिख सकते है।

में आपसे बस यही कहना चाहता हु की आप अपने ब्लॉग को बनाने से पहले ब्लॉग के बेसिक चीज़े को शिखे आपको बहुत से यूट्यूब में वीडियो मिल जाएगी। आप उन्हें देखे और बेसिक सेटप्स को सीखे।
  • Basic Setting of Blog
  • create page, post
  • Basic Off page Seo settings
  • Basic Customization
  • Basic of Create blog
  • आपको यूट्यूब में बहुत सी वीडियोस मिल जाएँगी जिससे देख कर आप अपने ब्लॉग की बेसिक सेटिंग को कर सकते है। 
इन  basic setting को  सीखकर रखे जिससे आपको ब्लॉग बनाते टाइम कोई समस्या न हो। और धीरे-धीरे आप बेसिक को सीख कर  बहुत बड़े-बड़े काम को सिख जायेंगे। 


अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो तो कृपया इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और अगर आपको कोई दिक्कत हो या कोई सवाल पूछना हो तो Comment करे हम हमेशा हाज़िर रहेंगे। 
Digital Marketing/Internet Marketing हिंदी में

Digital Marketing/Internet Marketing हिंदी में

आजकल Business की दुनिया में एक ही शब्द सुनने में आता है वो है  Digital Marketing . आखिर इसका मतलब क्या होता है? डिजिटल मार्केटिंग किया होता है ? पिछले पोस्ट में हमने आपको बताया कंटेंट मार्केटिंग क्या होता है। कंटेंट मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग का ही एक पार्ट है। आज इस पोस्ट में हम Digital Marketing in Hindi में आज जानेगे।

digital marketing

 Digital Marketing/Internet Marketing क्या है? जानते है हिंदी में 

सरल शब्दों में कहा जाए तो ये Traditional Marketing को रिप्लेस कर रहा है।  Traditional Marketing
मतलब खुद के प्रोडक्ट्स को टीवी रेडियो के द्वारा advertise करना। पर अभी देखा जाये तो कंपनियां अपने प्रोडक्ट्स का प्रचार सोशल मीडिया के द्वारा, ज्यादा कर रही है। क्योकि दुनिया के ज्यादातर लोग अभी उसपे एक्टिव रहते है।  सोशल मीडिया पे प्रचार करने का सबसे मुख्य कारण यही है कि ज्यादा से ज्यादा लोगो तक उनका बिज़नेस की जानकारी पहुंचे।


डिजिटल मार्केटिंग उन सभी Techniques का मिश्रण है, जिनसे  Online Presence, Return on Investment , Branding आदि किया जा सकता है और जिससे लोगो को आकर्षित कर सकते है।
हर एक कंपनी खुद की Marketing करके अपने Customers Target बनाके करती है। और ज्यादा सरल भाषा में कहा जाये तो घर बैठे बैठे अपने Brand को पॉपुलर बनाना। ये एक प्रकार की Internet Marketing ही है।
जैसे  Amazon ,Flipkart अपनी मार्केटिंग जिस तरह से करती है वो बहुत सराहनीय  है हम देखते है उनके प्रोडक्ट्स का प्रचार हर जगह होता है


Important Chapters of Digital  Marketing

1.Social Media Marketing-जैसे की फेसबुक वगेरा पर कंपनियां अपने ब्रांड्स की पब्लिसिटी के लिए वीडियोज फोटोज अपलोड करती है। जिससे लोगो तक बात पहुंचे उनके प्रोडक्ट्स की डिटेल्स मिले। Facebook ,YouTube ,Google+,LinkedIn,Twitter etc जैसी सोशल मीडिया साइट्स बहुत ज्यादा लाभदायक होती है। जिस से वो लोगो को प्रत्येक दिन अपडेट करते है। ये साइट्स users को easily कम्यूनिकेट करने में हेल्प करती है। ये audience और कंपनी के बीच एक माध्यम का काम करते है। इन साइट्स पे लोग अपने नेगेटिव और पॉजिटिव दोनों reviews देते है जो उस कंपनी  को अपना बिज़नेस बढ़ाने में मदद कर  सकते है।




2.Email,Website,Mobile Application Marketing  -बिज़नेस कंपनी खुद की एक पर्सनल वेबसाइट रखती है जिस पर वे हर दिन खुद का अपडेट देती रहती है। जिस से users उनके बारे में कभी भी जान सके। अपनी नयी पॉलिसीस या नए प्रोडक्ट के बारे में लोगो को ईमेल के रूप में नोटिफिकेशन्स सेंड करना। दुनिया का एक बड़ा भाग एंड्राइड फ़ोन यूज करता है। ऐसे में अपने बिज़नेस के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन बनाना काफी फायदेमंद रहता है। और ईमेल से अपने यूजर के साथ अपना अच्छा सम्बद्ध बनाये रखते है। हर वो अपडेट अपने यूजर को ईमेल द्वारा मिल जाते है।



3. Content Marketing -Content मतलब की वो सब चीज़े जो आप एक Website या  Newspaper में देखते हो जैसे की Images, Texts, Videos etc.  इसको उपयोग में लाने की प्रमुख वजह है लोगो को आकर्षित करना। ज्यादा से ज्यादा लोगो को अपनी तरफ खीचना।  बहुत साडी  बड़ी बड़ी कम्पनीज इसी Strategy को अपनाती है।  Content marketing को साधारण शब्दों में अर्थ है कि ऐसा Content Create करना और लोगो तक पहुंचाना जो की उनके Products से Related हो और जिससे लोग उनकी तरफ आये।  इसको ये भी कह सकते है कि स्टोरी टेलिंग लेकिन वो attractive होनी चाहिए। ये बहुत साड़ी लीडिंग कम्पनीज द्वारा यूज किया जा रहा है। जैसे की Cisco,P&G,Microsoft.सरल शब्दों  एक डीलर एक कस्टमर को इसका यूज करके Attract करता है।

4. Search Engine Marketing -इसको समझने के लिए एक simple उदाहरण है आपने अपनी कोई एक न्यूज़ वेबसाइट बनाई। लेकिन जब एक यूजर किसी टॉपिक के बारे में सर्च करे, तो क्या चान्सेस है कि गूगल के पेज पे टॉप लिंक्स में आपकी साइट होगी। जैसे आप किसी प्रोग्रामिंग या Web-development रिलेटड डाउट google करोगे तो आप पाएंगे की टॉप लिंक्समेStackoverflow,W3Schools,geeksforgeeks मिलेंगे।
 जो वेबसाइट रहती है उसको गूगल की रैंकिंग में लाने के लिए सबसे मुख्य बात है।  उसका कंटेंट कैसा है? इसके लिए सबसे इम्पोर्टेन्ट है Search Engine optimization (SEO).

        SEO कटेंट की केटेगरी में आने के लिए उस साइट का कंटेंट और आर्टिकल ऐसा हो की वो किसी  भी 10 -12 साल तक बच्चे के द्वारा भी रीड की जा सके। मतलब आर्टिकल इतना सरल हो कि को किसी को समझ में जाये। वो यूजर फ्रैडंली हो इसलिए हम देखते है की ज्यादातर बिज़नेस  साइट खुद की वेबसाइट के लिए SEO वाले कंटेंट राइटर को hire करते है



5. Viral Marketing-इसका मतलब इसके नाम में ही छिपा है मतलब अपने बिज़नेस को Viral करना अथार्थ ज्यादा से ज्यादा लोगो तक पहुंचाना।
6. Influencer Marketing- इस मार्केटिंग टाइप का अर्थ होता है लोगो को अपनी strategies से इन्फ्लुएंस करना मतलब लोगो को अपनी तरफ आकर्षित करना।
7. Pay per Click -जब आप कोई साइट ,यूट्यूब ओपन करते हो आपने कई बार ऐड देखी होगी। कुछ साइट्स अपने कंटेंट के बीच में ये सब डालती है,Google Ad-sense के द्वारा इस से पैसे कमाए जा सकते। मतलब डेवलपर को हर एक क्लिक पर कुछ अर्निंग होती है।

8. Public Relation -लोगो की आवश्यकता के अनुसार अपनी strategy में चेंज लाना ,अपना विस्तार करना l
9. Affiliate Marketing -कंपनी द्वारा अपने सेल्स को बढ़ाने के लिए उसे किया जाता हैं जैसे कि डिस्काउंट ऑफर।




उम्मीद है ये नई जानकारी आपको अपने नए बिज़नेस में काफी मदद करेगी। और जैसे जैसे जमाना आगे बढ़ रहा है वैसे वैसे टेक्नोलॉजी बढ़ रही है। और उन टेक्नोलॉजी के साथ साथ हमें भी चलना होता है। तो दोस्तों हमारे साथ जुड़े रहिये और नए नए जानकारी लेते रहिये।

उम्मीद है आपको ये पोस्ट हो। यदि कोई सवाल या सुझाव हो तो निचे कमेंट जरूर करे। धन्यवाद। 
आकाश मिसाइल

आकाश मिसाइल

आकाश मिसाइल
🌟आकाश मिसाइल पूर्णत: स्वादेसी तकनीक से भारत में निर्मित मिसाइल हे।  माध्यम दुरी तक सतह से हवा में मर करने वाली मिसाइल हे। इसकी मारक क्षमता जमीन से जमीन पर 30 किलोमीटर हे और जमीन से हवा में 18 किलोमीटर तक मार कर सकती हे। इसमें लड़ाकू विमान क्रूज मिसाइल बेलिस्तिक मिसाइल टेंक को नष्ट करने की क्षमता हे।

इसका निर्माण रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन, आयुध कारखाना बोर्ड, भारत डायनेमिक्स, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, ने मिलकर किया हे | 

यह मिसाइल थल सेना और वायु सेना में परिचालन सेवा में हे | यह मिसाइल एक साथ 64 लक्ष्य को ट्रेक कर उनमे से 12 में हमला कर सकती हे | इस में 60 किलोग्राम विस्फ़ोटक ले जाया जा सकता हे | इसका वजन 720 किलो हे 228 इंच इसकी लम्बाई हे तथा व्यास 14 इंच हे | इसका उत्पादन 2009 किया गया था | 

वर्तमान में भारत के पास 3000 मिसाइल निर्मित कर चूका हे इसकी गति 2.5 मेक हे | मई 2015 में इसे थल सेना और वायु सेना में शामिल किया गया | एक मिसाइल की लागल 1000 करोड़ हे तथा इस परियोजना की लागत 23300 करोड़ हे | जो अन्य देशो के मुकबले इस तकनीक की मिसाइल प्रणाली विकसित करने से 10 गुना कम हे | इस में उन्नत किस्म का 3डी राडार सिस्टम लगा हे जो हमले के पूर्व ही उसकी सुचना दे देता हे | और 150 किलोमीटर की दुरी से ही लक्ष्य की ट्रेकिंग शुरू कर देता हे |

आकाश मिसाइल

 आकाश मिसाइल में विभिन्न वाहनों के बीच संचार वायरलेस वायर्ड लिकं का एक समायोजन होता हे | पुरे सिस्टम को तेजी स्थापित करने के लिए डिजाईन किया गया हे | आकाश प्रणाली को रेल सड़क वायु तीनो माध्यम से तेनात किया जा सकता हे | 

आकाश प्रणाली के सारे परिक्षण चांदीपुर ओडिशा में किये गए | 1990 से 2007 तक सारे 6 परिक्षण आकाश प्रणाली ने सफलतापूर्वक पूर्ण किये | भारतीय वायु सेना ने ग्वालियर महाराजपुर, जलपाईगूडी हिसिमारा, तेजपुर जोरहाट, पुणे लोहेगांव, पर अपने अड्डो पर आकाश मिसाइल को तेनात कर रखा हे | था थल सेना ने जुलाई 2015 आकाश मिसाइल की एक पूरी रेजिमेंट अपने अड्डे पर तेनात कर रखी हे | 

2016 अंत में दूसरा रेजिमेंट तेनात करने की योजना हे | 2017 अंत तक सेना को 2 और रेजिमेंट मिलना हे | भारतीय वायु सेना में आकाश मिसाइल के 8 स्कवाडन हे | और 7 स्क्वाडन आर्डर पर हे | 

आकाश मिसाइल
एक स्क्वाडन में 48 से 125 मिसाइल होती हे | थल सेना में एक रेजिमेंट हे तथा एक ऑर्डर पर हे | एक रेजिमेंट में 6 स्क्वाडन के बराबर मिसाइल हे | एक रिपोर्ट के मुताबिक थाईलेंड, मलेशिया, बेलारूस, ने भी वियतनाम ने भी इसकी मारक क्षमता को देखते हुए इसको खरीदने में रूचि दिखाई हे | 


2010 में इसके दुसरे संस्करण का कार्य चालू हे जिसकी मारक क्षमता जमीन से जमीन तक 35 किलोमीटर जमीन से हवा में 22 किलोमीटर तक होगी | भारत में आकाश और ब्राहमोस जेसी विश्व स्तर की मिसाइल निर्मित कर शास्त्र निर्माण के क्षेत्र में नई शक्ति बनकर उभरा हे। ⛄