Feb 19, 2020

DA & PA क्या है? ओर आपने ब्लॉग की DA & PA कैसे बढ़ाये?

DA & PA क्या है? ओर आपने ब्लॉग की DA & PA कैसे बढ़ाये?

यदि आपने हाल ही में अपने Blog या Website की शुरुआत की है! और इंटरनेट पर अपने बिज़नेस की ऑनलाइन पहचान बनाने के लिए आप नई-नई चीजें सीख रहे हैं! इस पोस्ट में आपको da -pa  के बारे में जनकारी देंगे की यह आपकी वेबसाइट के लिए होना क्यों जरूरी है।

और आज के इस लेख में हम बात करेंगे की यह DA और PA क्या है? जिस पर अक्सर कई Bloggers ध्यान नहीं देते परंतु DA और PA के बारे में जानकारी होना आज आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए बेहद जरूरी हो चुका है।

दोस्तों जब आप Blogging फील्ड में नए होते हैं! तो  आपको कई ऐसी जानकारी लेनी पड़ती हैं! जो कि आपने आज से पहले कभी सुना भी ना हो!

इसलिए आज हम इस लेख में बेहद सरल एवं सहज शब्दों में आपको बताएंगे कि यह DA औऱ PA क्या होता है? यह आपकी वेबसाइट के लिए क्यों जरूरी है! और कैसे आप अपनी वेबसाइट पर DA और PA बढ़ा सकते हैं।

ब्लॉग कैसे बनाये? उसके बारे में हमने पहेले से ही बताया हुआ है, लेकिन आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की DA & PA kya hai? or apne blog ki DA & PA kaise badhaye?

दोस्तों DA और PA से संबंधित पूरी जानकारी आसान शब्दों में पाने के लिए इस लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें! और मुझे पूरी उम्मीद है यह लेख आपके लिए और आपकी ब्लॉग, वेबसाइट दोनों के लिए बेहद उपयोगी होगा। तो आइए बिना देरी किए सर्वप्रथम हम जानते हैं कि यह -

DA क्या होता है? -

DA अर्थात Domain Authority! यदि हम सरल शब्दों में DA को समझे तो यह है 1 से 100  तक का score होता है जो निर्धारित करता है, की सर्च engine Result में आपकी साइट के Rank होने की कितनी संभावननाएँ (Possibilities) हैं। 

अर्थात आपकी साइट की Performance का अवलोकन (Overview) करने के लिए इस सर्च इंजन रैंकिंग Score को Moz कंपनी द्वारा विकसित किया गया है।

दोस्तों चूँकि यह 0 से 100 के बीच का स्कोर होता है, जिसका मतलब है कि जितना अधिक आप की वेबसाइट का Score होगा। उतनी अधिक आपकी वेबसाइट के सर्च इंजन में Rank होने के Chances होंगे।

इसे आप उदाहरण की मदद से बेहतर तरीके से समझ सकते हैं! मान लीजिए वर्तमान समय में Amazon साइट का DA 90 है, जबकि Snapdeal का D. A 62 है। 

इस स्तिथि में इसका सीधा फायदा Amazon साइट को है, क्योंकि जब भी आप किसी online प्रोडक्ट को सर्च इंजन पर Search करते हैं, तो ज्यादातर समय आपको Amazon के रिजल्ट सबसे पहले दिखाई देते हैं। जबकि वह  प्रोडक्ट Site पर उपलब्ध होता हैं।

ऐसा इसलिए क्योंकि Snapdeal की तुलना में Amazon का da अधिक है।

अब आपको पूरी तरह Clear हो चुका होगा कि जितनी अधिक आपकी साइट का DA होगा उतना अधिक आपकी वेबसाइट के ranking के chance होंगे।

दोस्तों गूगल द्वारा पहले Pagerank को पहले publicly Show किया जाता था। परंतु बाद में गूगल ने ऐसा करना बंद कर दिया। जिसे देखते हुए Moz कंपनी ने अपने स्वयं के PA एवं DA को विकसित किया जिसकी वजह से आज हम पता कर पाते हैं कि हमारी वेबसाइट का DA तथा PA क्या है?

चलिए अब हम जानते हैं कि यह PA क्या होता है?


PA अर्थात Page Authority यह  0 से लेकर 100 तक का Score होता है जिसे Moz द्वारा विकसित किया गया है। यह किसी Specific Web पेज के बारे में बताता है कि  इस पेज के सर्च इंजन पर Rank होने की कितनी संभावना है।

जितना अधिक PA होगा। उतना अधिक आपकी Ranking के Chances बढ़ जाते हैं।

दोस्तों यदि आप DA और PA के बीच फर्क को समझें तो जहां DA पूरे डोमेन तथा subdomain को Measure कर उसकी Strength के Score को बताता है।  वहीं PA सिर्फ किसी single Web Page की Ranking Strength को measure करता है।

तो यह जानना  कि DA और PA का अधिक होना आपकी साइट के लिए फायदेमंद है। तो आइए जानते हैं की कैसे आप अपनी साइट के DA को increase कर सकते हैं।

Site के DA को बढ़ाने के लिए जो सबसे पहला Step यह है, की जब भी आप अपनी वेबसाइट का Domain लें। वह सही Domain चुने। सही Domain से मेरा तात्पर्य है जिस Niche पर आप अपनी वेबसाइट में पोस्ट करने वाले हैं उससे रिलेटेड ही Domain लेने की कोशिश करे।

On Page Content को ऑप्टिमाइज करना। आपकी डोमेन अथॉरिटी को बढ़ाता है।

High क्वालिटी Content Create करें। ताकि बड़ी वेबसाइट से आपको Do Follow backlink प्राप्त हो सके। साइट के Interlinking Structure को Improve करें! अर्थात किसी टॉपिक से रिलेटेड अन्य आर्टिकल को अपनी

साइट से इंटरनल लिंक करना न भूलें।
वेबसाइट से Bed Url को Remove करें।
साइट को मोबाइल फ्रेंडली बनाएं।

दोस्तों यह थे कुछ मुख्य Tips जिनसे आप अपनी साइट की domain authority को increase कर सकते हैं।

DA increase करने के फायदे।


दोस्तों आपकी साइट के लिए DA का बेहतर होना सर्च इंजन रिजल्ट पेज में आपकी पोजीशन को improve करता है। 

यदि आपकी साइट की "डोमेन अथॉरिटी" अधिक होगी। तो आपकी साइट में अधिक ट्रैफिक आएगा जिससे comments तथा गेस्ट पोस्ट के ऑफर अधिक आएंगे। 

Site में DA का होना आपकी income को भी effect करता है, इससे आपकी Site में अनेक sponsored post आते हैं। 

Blog में एफिलिएट मार्केटिंग करने जा रहे हैं, तो यह आपकी Affiliate Sales  को बढ़ाने में बड़ी सहायता करता है। 

Page Authority कैसे बढ़ाएं। 


हाई क्वालिटी कंटेंट लिखें! जिससे आपकी साइट को अन्य हाई-क्वालिटी साइट से बैकलिंक मिल सके। दोस्तों यह एक ट्रिक है। आपकी Site में जरूर कुछ ऐसे ही Webpage होंगे। जिनका PA अधिक होगा। तो आप उसी पेज के Topic से रिलेटेड एक नया Content लिखें। तथा उसमें एक high PA वाले वेब पेज को लिंक करें।

PA को improve करने के लिए यह जरूरी है कि आपकी वेबसाइट में  सभी क्वालिटी कंटेंट होने चाहिए।

Pa increase  करने के लिए हमेशा सुनिश्चित करें कि site से हार्मफुल Links को रिमूव करें। आप गूगल सर्च Consol की सहायता से इन Links को रिमूव कर सकते हैं।

तो दोस्तों यह थे कुछ मुख्य टिप्स जिनसे आप अपनी साइट की Page Authority को इनक्रीस कर सकते हैं। 

यदि आप साइट की domain authority तथा page Authority को बढ़ाने के विषय पर अधिक गहराई से जानकारी पाना चाहते हैं! तो कमेंट में जरूर बताएं! हम उस विषय पर आपके लिये जल्द ही विस्तार-पूर्वक लेख लिखेंगे। 

तो दोस्तों आज के इस लेख में बस इतना ही आज आपने सीखा कि DA और PA क्या होता है? यह आपकी वेबसाइट के लिए क्यों महत्वपूर्ण है! तथा कैसे आप अपनी Site का DA और PA बढ़ा सकते हैं। उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए उपयोगी सिद्ध होगी। 

आपको DA & PA  के विषय पर यह लेख कैसा लगा कमेंट में अपने विचारों को जरूर बताएं! साथ ही यदि आपको यह  जानकारी पसंद आई तो सोशल मीडिया पर शेयर अवश्य करें।

Guest Post

Author Name: FutureTricks
Author Bio: FutureTricks - A Hindi Tech Blog! here you can learn about Ethical
Hacking, Social Media Tricks, Tech Hacks, Blogging, Make Money & More…
Site URL: https://www.futuretricks.org/
Email: admin@futuretricks.org 

Feb 10, 2020

CAADDA.COM Fraud or Scam Company Registration, Trademark Filing & GST Filings

CAADDA.COM Fraud or Scam Company Registration, Trademark Filing & GST Filings

CA ADDA.com Froud or Scam website Company Registration, Trademark Filing & GST Filings.


CAADDA.COM Fraud or Scam Company Registration



जी बिलकुल मेरे साथ जनवरी २०२० में ही एक वेबसाइट द्वारा स्कैम हुआ जिसका नाम यह है CAADDA .COM Fraud यह Business service platform है जिसका काम gst registration, tax filling, business registration, company registration, GST Return & Filing Consultant. है।

मेरे साथ CAADDA .COM स्कैम कैसे किया इस साइट ने।


मुझे अपना काम शुरू करने है लिए GST की आवश्कता पड़ी। मेने गूगल सर्च किया GST Registration in kusumgram तो मुझे इनकी वेबसाइट पहले नंबर पर दिखी। तो में इनके पोर्टल पे गया इन्हे संपर्क किया। [9560388947, 931572186 ] whatsapp के द्वारा। हमारी सभी बात चित हुई। GST Registration के लिए जो documents जरुरी थे वो मेने सब दिए और इनका जो rate था वो भी। 199rs मेने इन्हे advance पैसे दे दिए। इन्होने मुझे बताया की 3-7 दिन का समय लगेगा मेने मना । ये घटना [28jan-2020] की है. मेने इन्हे 7 दिन बाद फिर से massage call किया तो इन्होने मेरे मैसेज का रिप्लाई नहीं दिया और आज भी नहीं दे रहे है। ये पोस्ट में [16feb 2020] पुरे दुःख से लिख रहा हूँ । हालांकि 199rs ज्यादा रकम नहीं है फिर सोच सकते है ऐसे ऑनलाइन हर रोज लोगो को लूटा जा रहा है.
तो अगर आप मेरी इस रिपोर्ट को आप पढ़ रहे है तो आप इन लोगो से बचे। . पूरी जानकारी ले फिर अपना काम किसी जानने वाले से कराएं। .
ऑनलाइन आजकल बहुत स्कैम व फ्रॉड हो रहे है।
ये मेरा पेमेंट प्रूफ।

में आपके साथ अपना एक वीडियो शेयर कर रहा हु। जिसमे आपको सभी प्रूफ मिल जायेंगे।

video 1
video 2
vedio3

CAADDA.com and talking person Sangram Singh Choudhary is FRAUD/Scam, never use there service, they will ask you to make the payment online and then they will never picup your call.
Fraud or Scam Company 

 I am from West Bangal, my service is gst registration i am paying 199rs via Amazon  but this time no any response.



Is company ka all reviews fake ha.

9560388947 is number pe bhi contact kiya but no answer

.
यह कंपनी पूरी तरह से Fraud और स्कैम की वेबसाइट है। मेने पूरी तरह से इन्हे पेमेंट एडवांस दिया है लेकिन वे अब मेरे कॉल massage का reply नहीं दे रहे है।

यह वो person है जिनके साथ बातचीत हुई अब कोई जवाब नहीं दे रहे है।

ये मेरा पेमेंट details जो पूरी तरह से pay है.




ये रहा और लोगो का review.


Feb 8, 2020

महात्मा गांधी पर निबंध, मोहनदास करमचंद गाँधी पर हिंदी निबंध।

महात्मा गांधी पर निबंध, मोहनदास करमचंद गाँधी पर हिंदी निबंध।

महात्मा गांधी पर निबंध, mahatma gandhi, hindi essay, gandhi
Mahatma Gandhi (Mohandas Kramchand Gandhi ) Hindi essay

महात्मा गांधी,  मोहनदास करमचंद गाँधी- पर निबंध 

प्रस्तावना: महात्मा गांधी(मोहनदास करमचंद गाँधी) का नाम हमारे देश में कौन नहीं जानता उन्हें हम राष्ट्रपिता और बापु के नाम से भी जानते हैं महात्मा गांधी  भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के प्रमुख नेता थे, भारत में कई प्रकार की स्वतंत्रता सेनानी हुये वह भी दो तरह के होते थे, पहला वह जो अंग्रेजों द्वारा किए गए अत्याचारों का जवाब देते थे जैसे सरदार भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद आदि, दूसरे तरह के सेनानी जो खूनी मंजर के बजाय शांति की राह पर चलना पसंद करते थे और उनमें सबसे प्रमुख नाम महात्मा गांधी जी का आता है जो सत्य अहिंसा के पुजारी थे इसलिए इनको महात्मा गांधी के नाम से हम सब जानते हैं।

गांधीजी का पूरा नाम और जन्म: महात्मा गांधी जी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी था उनका जन्म 2 अक्टूबर 1869 में पोरबंदर काठियावाड़ नाम के  स्थान पर हुआ था, जो कि गुजरात में है।

महात्मा गांधी जी का परिवार: महात्मा गांधी जी के पिता का नाम करमचंद गांधी था। यह राजकोट के दीवान थे माता का नाम पुतलीबाई था जो कि धार्मिक विचारों वाले थीं महात्मा गांधी अपने परिवार में सबसे छोटे थे उन्से एक बड़ी बहन और दो बड़े भाई थे, रलियत ( बहन) (लक्ष्मीदास नंद,कुंवरबेन  ) भाई कृष्णदास( गंगा) भाई, इनकी पत्नी का नाम कस्तूरबा गांधी था महात्मा गांधी जी के बेटे का नाम हरिलाल गांधी, मणिलाल गांधी, रामदास गांधी, देवदास गांधी, उनके चार बेटे थे जिनमें १३ पोते-पोतिया थे, गोपाल कृष्ण गांधी जी भी महात्मा गांधी जी के पोते थे जो कि 2004 से 2009 तक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल रहे थे 2017 में उपराष्ट्रपति के चुनाव में चर्चा में रहे।

महात्मा गांधी जी की शिक्षा:- महात्मा गांधी जी की प्रारंभिक शिक्षा राजकोट में हुई थी 1881 में उन्होंने हाई स्कूल में प्रवेश लिया 1887 में गांधी जी ने मैट्रिक की शिक्षा प्राप्त की, भाव सागर के रामलदास कॉलेज में उन्होंने कॉलेज की पढ़ाई की परंतु परिवार वालों के कहने पर उन्हें अपनी शेष पढ़ाई पूरी करने के लिए इंग्लैंड जाना पड़ा उन्होंने अपनी वकालत की पढ़ाई इंग्लैंड पूरी की, उनका मानना था कि मेरे भारत देश में एक भी व्यक्ति अशिक्षित ना रहे शिक्षा को बहुत महत्व देते थे।

महात्मा गांधी जी का भारत वापस आना:- सन 1916 में महात्मा गांधीजी वकालत की शिक्षा ग्रहण करके भारत लौटे और अपने कदम इन्होने आजादी के लिए बढ़ाएं और 1920 में कांग्रेस के लीडर बाल गंगाधर तिलक की मृत्यु के बाद कांग्रेस  के मार्गदर्शक  बने, प्रथम विश्व युद्ध जो कि 1914-1919 में हुआ था तब गांधी जी ने बिट्रिश सरकार की मदद इस शर्त पर कि कि वो भारत छोड़कर चले जाएंगे और भारत को आजाद कर देंगे  पर अंग्रेजों ने ऐसा नहीं किया तब महात्मा गांधी जी ने कई आंदोलन करे थे।

महात्मा गांधी जी के आंदोलन:-

(1) भारतीय स्वतंत्रता संग्राम -1916 -1945
(2) चंपारण और खेड़ा सत्याग्रह -1998- 1919
(3) खिलाफत आंदोलन -1919 -1924
(4) असहयोग आंदोलन -1920
(5) अवज्ञा आंदोलन ,नमक सत्याग्रह ,दांडी यात्रा ,हरिजन आंदोलन- 1930
(6) भारत छोड़ो आंदोलन , दित्तीय विशव युद्ध ,देश का विभाजन और भारत की आजादी -1942

महात्मा गांधी के आंदोलन जो भी आंदोलन किए वह सभी शांतिपूर्ण ढंग से किया, वह सत्य और अहिंसा का पालन करते थे, यदि कोई भी हिंसा होती थी तो वह आंदोलन को टाल देते थे।

गांधी जी की कुछ महत्वपूर्ण बातें:- 
(1) गांधी जी ने दक्षिण प्रवास के दौरान 1899 में, एंग्लो बोयर युद्ध में  स्वास्थ्य कर्मि का काम किया था।
(2) जीस ब्रिटिश सरकार से महात्मा गांधी ने  लड़ाई लड़ी उन्ही ने  उनके सम्मान में उनके निधन के 21 साल बाद  उनके नाम का डाक टिकट जारी किया था।
(3) गांधी जी के आंदोलन कुल 4 महाद्वीप और 12 देशों तक पहुंचा था।
(4) भारत में 53 सड़कें महात्मा गांधी जी के नाम से है जबकि 48 लड़के विदेशों में हैं।
(5) महात्मा गांधी जी ने अफ्रीका के डरबन में 3 फुटबॉल क्लब स्थापित किए।
(6) महात्मा गांधी जी को शांति नोबेल पुरस्कार अभी तक नहीं मिला जबकि पांच बार वह इसके लिए  नॉमिनेट  हो चुके हैं।

उपसंहार
महात्मा(गाँधी) जी के कार्यों का उल्लेख अगर करने लगे तो शब्दों की कमी पड़ जाएगी इस महात्मा की तीन महत्वपूर्ण सिद्धांत थे ना बोल बुरा, ना देख बुरा, ना सुन बुरा, महात्मा गाँधी के इन सिद्धांतों को नजरअंदाज़ करके 30 जनवरी 1948 को एक व्यक्ति ने उनकी हत्या कर दी इस महात्मा ने देश के लिए अपनी जान देदी और हमें इनके  कार्यो को ना भूलते  हुए इस आजादी  का सही उपयोग करना चाहिए क्युकी ऐसे महान व्यक्ति सदियों में एक ही धरती पर अवतरित होते  है बार-बार नहीं।

#सम्बंधित लेख : महात्मा गाँधी 
महात्मा गांधी के आंदोलन के नाम।

महात्मा गांधी के आंदोलन के नाम।

महात्मा गांधी, महात्मा गांधी के आंदोलन, महात्मा गांधी jivan parichay
महात्मा गांधी के आंदोलन और  जीवनी। 

महात्मा गांधी आंदोलन के नाम। 

" जिस दिन प्रेम की शक्ति.
शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जाएगी,
दुनिया में अमन आ जाएगा "

"ये कथन हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के थे की जिस दिन शक्ति पर प्रेम हावी हो जाएगा उस दिन हमारे देश मे अमन आ जायेगा"

महात्मा गांधी जी की जीवनी

महात्मा गांधी जी का जन्म 1869 गुजरात  के पोरबंदर में हुआ था उनके पिता का नाम करमचंद गांधी था जो कि पोरबंदर के दीवान थे उनकी मां का नाम पुतलीबाई था जो धार्मिक प्रवृत्ति के थे और उनके धार्मिक प्रवृत्ति का असर महात्मा गांधी पर काफी पड़ा था उनकी पत्नी का नाम कस्तूरबा गांधी था जो कि उन से 1 साल बड़ी थी उनका विवाह 13 वर्ष की आयु में हो गया था ,1887 में उन्होंने मैट्रिक की परीक्षा पास की थी सन 1888  में उन्होंने भावनगर के सामलदास कॉलेज में पढ़ाई की यहां से वहां  लंदन गए जहां इन्होंने बैरिस्टर की शिक्षा प्राप्त की थी।

महात्मा गांधी जी के आंदोलन की परिभाषा

         " दे दी हमें आजादी बिना खड़ग बिना ढाल.साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल."

हमारे राष्ट्रपिता के लिए लिखी गई है दो लाइनों उनके आंदोलन की पूरी व्याख्या करते हैं इसमें बोला गया है कि इस महात्मा ने बिना किसी हत्यार और बिना किसी को ढाल बनाकर हमारे देश भारत को सत्य और अहिंसा के सहारे आजादी दिलवाई।

महात्मा गांधी जी सत्य और अहिंसा के पुजारी थे उनका पूरा जीवन सत्य और अहिंसा के मार्ग पर आधारित था सत्य और अहिंसा के दम पर एकजुट होकर हमारे भारत देश को स्वतंत्रता दिलाई अपने पूरे जीवन में केवल सत्य और अहिंसा का ही प्रयोग किया एक तरह से उनका पूरा जीवन एक आंदोलन ही था उनके अनुसार केबल रक्त बहाकर ओर किसी को नुकसान पोहचाना ही आंदोलन नही होता आंदोलन सत्य और अहिंसा का सहारा लेकर भी किया जा सकता है और वो अपने जीवन के सभी आंदोलन में सफल भी रहे।

महात्मा गांधी जी के आंदोलन के नाम

महात्मा गांधी जी ने सत्य और अहिंसा के बदौलत अपने देश को स्वतंत्रता दिलाई इस हेतु उन्होंने कई आंदोलन करें जो कि इस प्रकार है।

(1) चंपारण सत्याग्रह -1917
 चंपारण बिहार राज्य का एक जिला है और इस जिले के किसानों की मदद के लिए यह आंदोलन किया गया था इसे निल की खेती को रोकने के लिए किया गया था क्योंकि नील की खेती से जमीन खराब हो जाती थी इस आंदोलन को चंपारण आंदोलन नाम दिया गया था।

(2) खेड़ा सत्याग्रह- 1918
खेड़ा गुजरात में है यह एक किसान आंदोलन था जिसमें किसानों की दशा को सुधारने के लिए किया गया था जो कि लगान व्रद्धि की समाप्ति पर आधारित था।

(3) अहमदाबाद अनशन -1918
अहमदाबाद अनशन अहमदाबाद के कर्मचारियों पर आधारित था इस आंदोलन का मुख्य उद्देश्य मालिकों द्वारा मजदूरों को दिया जाने वाला प्लेग बोनस को समाप्त करना था।

(4)खिलाफत आंदोलन -1919
खिलाफत आंदोलन भारत में मुख्य रूप से मुसलमानों द्वारा चलाया गया था यह आंदोलन राजनीति  ऒर धार्मिक था इस आंदोलन का उद्देश्य (शुन्नी)
इस्लाम के  मुखिया माने जाने वाले तुर्की के खलीफा के पद की पुनः स्थापना कराने हेतु या आंदोलन किया गया था।

(5) असहयोग आंदोलन 1920
असहयोग आंदोलन महात्मा गांधी  तथा भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के बीच के नेतृत्व  में आंदोलन चला था जिसने भारतीय स्वतंत्रता  आंदोलन को एक नई जागृति प्रदान करि।

(6) दांडी मार्च  -1930
दांडी मार्च सत्याग्रह अंग्रेज सरकार के नमक के ऊपर कर लगाने के कानून के विरुद्ध किया गया आंदोलन था।

(7) सविनय अवज्ञा आंदोलन -1930
सविनय अवज्ञा आंदोलन गांधी जी द्वारा 1930 में शुरू किया गया था जिसका अर्थ था बिना किसी हिंसा के किसी सरकारी आदेश की अवहेलना करना (लॉर्ड इरविन )ने गांधी जी की 11 मांगों को नामंजूर कर दिया था तो महात्मा गांधी जी ने इन मांगों के लिए सविनय अवज्ञा आंदोलन किया था।

(8) व्यक्तिगत सविनय अवज्ञा आंदोलन - 1940
व्यक्तिगत सविनय अवज्ञा आंदोलन गांधी जी की इरविन पेंट समझौता को ना मानना और ब्रिटिश सरकार द्वारा पूर्ण स्वराज की बात को स्वीकार नहीं करने के विरुद्ध व्यक्तिगत सविनय अवज्ञा आंदोलन  पूर्ण स्वराज्य हेतु शुरु किया गया था।

(9) भारत छोड़ो आंदोलन - 1942
भारत छोड़ो आंदोलन द्वितीय विश्व युद्ध के समय आरंभ किया गया था जिसका मकसद भारत मां को अंग्रेजों की गुलामी से आजाद कराना  था महात्मा गांधी जी ने इस आंदोलन के शुरुआत अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के मुंबई अधिवेशन से शुरू की थी।

(10) नोआखाली सत्याग्रह  -1946

महात्मा गांधी स्वतंत्र आंदोलन के द्वारा सांप्रदायिकता के खिलाफ लड़ते रहते थे क्योंकि वह जानते थे कि इसका घातक परिणाम सामने आएगा उनका मानना था यदि ऐसा हुआ तो हिंदू मुसलमानों में आपसी  मतभेद होगा तो भारत को कभी भी इस गुलामी से मुक्ति नहीं मिल पाएगी साम्प्रदायिक सद्भावना हेतु उन्होंने ये आंदोलन किया था।

गांधी जी के जीवन दर्शन का आधार भारतीय आदर्शवाद है

महात्मा गांधी जी के जीवन के मोटे तौर पर चार प्रमुख तत्व जो उनके आदर्शवाद पर आधारित है.

(1) सत्य
 गांधी जी के लिए ईशवर और सत्य में कोई अंतर नहीं था वह कहते थे यदि कोई व्यक्ति मन, वचन ,कर्म , अथवा कार्य में सत्य का प्रयोग करता है तो उसे ईश्वर अवश्य प्राप्त होता है।

(2) अहिंसा
अहिंसा अपने  सक्रीय रूप में जीवन के प्रति सद्भावना है यह शुद्व प्रेम  है।

(3) निर्भयता
समस्त ब्रहा भयो  से मुक्ति इसका अर्थ है।

(4) सत्याग्रह
विरोधी को कष्ट देकर नहीं अपितु स्वयम अपने आप को कष्ट देकर सत्य का समर्थन कराना सत्याग्रह कहलाता है।

गांधी जी का शिक्षा दर्शन

संसार के अधिकांश लोग गांधी जी को एक महान राजनीतिक ही मानते हैं परंतु उन्होंने देश की राजनीतिक उन्नति की अपेक्षा सामाजिक उन्नति को अधिक महत्व दिया था जिसमें उन्होंने शिक्षा को अधिक महत्व दिया जिसमें खास तौर पर बच्चों की शिक्षा पर ज्यादा बल दिया उनके अनुसार साक्षरता ना तो शिक्षा का अंत है और न आरंभ  यह केवल एक साधन है जिसके द्वारा पुरुष व स्त्री को शिक्षित किया जा सकता है।

 गांधी जी की शिक्षा के उद्देश्य

 इन्हें दो भागों में बांटा गया था।

(1) गांधीजी के तात्कालिक उद्देश्य

(2) शिक्षा का सर्वोच्च उदेश्य

गांधीजी के तात्कालिक उदेश्य इस प्रकार है। 

(1) जीविकोपार्जन का उद्देश्य

(2) सांस्कृतिक उद्देश्य

(3) पूर्ण विकास का उद्देश्य

(4) नैतिक अथवा चारित्रिक विकास

 (5) मुक्ति का उद्देश्य

शिक्षा का सर्वोच्च उद्देश्य

गांधी जी के अनुसार शिक्षा का सर्वोच्च उद्देश्य स्तय अथवा ईशवर की प्राप्ति शिक्षा के सारे उद्देश्य इस उद्देश्य के अधीन है यह  उद्देश्य वही आत्माभूति का उद्देश्य है ,आत्मा का विकास करना चरित्र का निर्माण करना है तथा व्यक्ति को ईश्वर ओर आत्मानुभूति के लिए प्रयास करने के योग्य बनाना है सर्वोच्च उद्देश्य है शिक्षा का ।

निष्कर्ष
इस प्रकार महात्मा गांधी जी ने अपना पूरा जीवन देश को समर्पित कर दिया था उस दुबले-पतले से दिखने वाले व्यक्ति महात्मा गांधी जी ने अपने  शरीर के वस्त्र तक देश के लिए छोड़ दिया था तो उनके बारे में कुछ भी लिखना या बोलना कहीं ना कहीं कुछ कम ही लगेगा ऐसे महात्मा को मेरा शत शत नमन है ।

#सम्बंधित लेख : महात्मा गाँधी 

Jan 2, 2020

बेस्ट 3 हिंदी ब्लॉग्गिंग टॉपिक (2020) -जिनसे आप  कमा सकते हैं लाखों रूपये

बेस्ट 3 हिंदी ब्लॉग्गिंग टॉपिक (2020) -जिनसे आप कमा सकते हैं लाखों रूपये

बेस्ट 3 हिंदी ब्लॉग्गिंग टॉपिक (2020) -जिनसे आप कमा सकते हैं लाखों रूपये 

बेस्ट 3 हिंदी ब्लॉग्गिंग टॉपिक- आज के इस बहुत ही खास पोस्ट में हम जानने वाले हैं की कैसे हम 3 बेस्ट टॉपिक पर ब्लॉग बनाकर ऑनलाइन बहुत सारा पैसा कमा सकते हैं। 
best 3 blogging topics in 2020
दोस्तों हम सभी जानते हैं की आज के समय में इन्टरनेट पूरी तरह से छाया हुआ है जहाँ कुछ लोग फेसबुक ,youtube या गूगल पर कुछ न कुछ दिन भर चेक करते रहते है। तो वहीँ कुछ  लोग अपना ब्लॉग या वेबसाइट या फिर YouTube चैनल बनाकर ऑनलाइन पैसा कमाने की कोशिश करते हैं।

आपको जानकर हैरानी होगी की आज के समय में बहुत सारे लोग हैं जो आज ऑनलाइन काम करके बहुत सारा पैसा कमाते हैं।

अब वो लोग क्या करते हैं ? ये सवाल जरुर आपके मन में उठ रहा होगा  वो लोग या तो ब्लॉग्गिंग करते हैं या फिर YouTube चैनल बनाते हैं या अपना खुद का कोई ऑनलाइन e-कॉमर्स वेबसाइट बनाते हैं जहाँ से वो प्रोडक्ट या सर्विस लोगों को देते हैं इसके अलावा भी बहुत सारे रास्ते हैं ऑनलाइन पैसे कमाने के।

लेकिन आज हम इन सबके बारे में तो नही लेकिन ब्लॉग्गिंग के बारे में जरुर बात करेंगे की आप कैसे अगर 3 बेस्ट टॉपिक पर ब्लॉग बनाते हो तो बहुत सारा पैसा आज के समय में कमा सकते हो। तो चलिए जानते हैं। 

3 बेस्ट ब्लॉग्गिंग टॉपिक

#1- हेल्थ- Health

सबसे पहले मै जिस टॉपिक की बात करूंगा वो है हेल्थ(Health) क्योंकि आप जानते हो की आजकल की लाइफ कैसी हो गयी है हम न तो ज्यादा कसरत अब करते हैं मतलब हम फिजिकल एक्टिविटी अब बहुत ही ज्यादा कम करने लगे हैं और हमारा खाना भी अब आर्गेनिक या नेचुरल तो नही होता है जिसे हमेशा बीमार होने का डर बना रहता है।

जिस वजह से लोग ऑनलाइन हेल्थ टिप्स के बारे में सर्च करते रहते हैं इसलिए अगर आप हेल्थ के ऊपर ब्लॉग बनाते हो और उस हर रोज हेल्थ से रिलेटेड टॉपिक्स के बारे में आर्टिकल लिखते हो तो आपको बहुत ही बढ़िया ट्रैफिक मिल सकता है जिससे आप काफी अच्छी इनकम गूगल adsense और साथ ही एफिलिएट मार्केटिंग से भी कर सकते हो।

#2- ब्लॉग्गिंग,Make money ऑनलाइन

अब आप सभी जानते ही हैं की इन्टरनेट का प्रयोग लोग अब कितना ज्यादा करने लगे हैं और इसके साथ-साथ लोग अब ये भी सर्च करते हैं।

की वो कैसे ऑनलाइन पैसे कमा सकते हैं और साथ ही कैसे अपना नाम बना सकते हैं इसलिए आपके लिए बेस्ट चांस ये भी है की आप ब्लॉग्गिंग या Online Earn Money टॉपिक के ऊपर भी ब्लॉग बना सकते हो रेगुलर आर्टिकल लिखकर अच्छा ट्रैफिक ब्लॉग पर ले सकते हो।

जिसके बाद आप Google Adsense या एफिलिएट मार्केटिंग के जरिये काफी अच्छा पैसा भी कमा सकते हो।

#3- मोटिवेशन,शायरी,Whatsapp status

तीसरा टॉपिक जो बहुत ही डिमांडिंग है वो है मोटिवेशन या फिर शायरी के ऊपर क्योंकि अपनी ज़िंदगी में कुछ अच्छा न होने पर लोग निराश हो जाते हैं फिर वो इन्टरनेट पर कुछ मोटिवेशन के वीडियोस या आर्टिकल देखना पसंद करते हैं और वैसे हर कोई इन्टरनेट पर मोटिवेशन देने वाली चीजों की तरफ ज्यादा attract भी होते ही हैं। 

और इसके अलावा एक जो बिलकुल न्यू ट्रेंड है whatsapp स्टेटस का जो की यूथ में काफी पोपुलर है काफी ज्यादा लोग इनको सर्च करते हैं इन्टरनेट पर इसलिए अगर आप इन टॉपिक के ऊपर ब्लॉग बनाते हो तो आपको भरभर के ट्रैफिक मिलने वाला है। 

और आप यकीन मानिये बहुत ही ज्यादा पैसा आप इसके जरिये कमा सकते हो। 

Final words

मुझे पूरी आशा है की मेरे इस पोस्ट को पढने के बाद आपको आईडिया लग ही गया होगा की इन बेस्ट 3 ब्लोगिंग टॉपिक के ऊपर ब्लॉग बनाने से आप सच में काफी अच्छा पैसा ऑनलाइन कमा सकते हो अगर आपका कोई भी सुझाव या सवाल हमारे इस पोस्ट के बारे में है तो आप हमे कमेंट करके बता सकते हो। 

Post Author:

मेरा नाम दीपक भण्डारी है और मै DeepakBhandari.in फाउंडर हूँ। मै उत्तराखंड का रहने वाला हूँ और अभी New Delhi मे जॉब करता हूँ। मुझे क्रिकेट खेलना बहुत पसंद हैं। और मुझे डिजिटल मार्केटिंग के बारे मे जानना और लोगों के साथ जानकारी शेयर करना बहुत अच्छा लगता है।मुझे इन्टरनेट से रिलेटेड चीजों के बारे में नई चीजें सीखने के साथ-साथ उसे शेयर करना भी बहुत अच्छा लगता है।

Dec 13, 2019

आई.आर. सी. टी. सी. में अधिकृत ट्रेवल एजेंट कैसे बनें?

आई.आर. सी. टी. सी. में अधिकृत ट्रेवल एजेंट कैसे बनें?



आई.आर. सी. टी. सी. में अधिकृत ट्रेवल एजेंट कैसे बनें?

तकनीक और बढ़ते व्यापार के अवसरों के कारण पैसे कमाना अब बहुत आसान हो गया है। आवश्यकता है तो बस सही जानकारी और कार्यकुशलता की।

ऐसे समय में आप आई. आर. सी. टी. सी. के आधुनिक और गतिशील ट्रेवल उद्योग में ट्रेवल एजेंट की तरह शामिल होकर अच्छा-ख़ासा मुनाफा कमा सकते हैं। कोई बड़ा व्यापार शुरुआत करने के लिए पैसे, अनुसंधान और बुनियादी ढांचे की जरूरत पड़ती है, पर ट्रेवल एजेंट का काम आप कम अपने घर से बहुत ही कम खर्च में कर सकते हैं।

क्या आप जानते हैं कि एक पेशेवर ट्रेवल एजेंट कैसे बना जाता है?

अगर नहीं, तो इस लेख में हम आपको इस बारे में पूरी जानकारी देंगे।

कैसे बनें ट्रेवल एजेंट?

Akbartravelsonline.com के माध्यम से IRCTC-अधिकृत ट्रेवल एजेंट लाइसेंस प्राप्त करके आप महीने में एक लाख रूपये या अधिक कमा सकते हैं और आप अपनी ट्रेवल एजेंसी की शुरुआत कर सकते हैं।

अब, सवाल यह है कि यह लाइसेंस कैसे प्राप्त करें?

IRCTC अपने प्रमुख एजेंटों के माध्यम से यह लाइसेंस प्रदान करता है। एशिया का सबसे बड़ा ट्रैवल एजेंट akbartravelsonline.com भारत भर में अधिकृत ई-टिकटिंग एजेंट नियुक्त करने वाली बहुत कम कंपनियों में से एक है। इसके माध्यम से आप ऑनलाइन आवेदन कर पाएंगे।

आईआरसीटीसी एजेंट लाइसेंस (IRCTCAgent Registration) पाने के लिए सिर्फ आपको इन तीन स्टेप्स को फॉलो करना होगा।
  1. ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म भरें।
  2. हमें अपने दस्तावेज़ भेजें।
  3. अपना अधिकृत लाइसेंस प्राप्त करें और अपना यात्रा व्यवसाय शुरू करें।

आईआरसीटीसी एजेंट लाइसेंस पाने की प्रक्रिया

हमारी टीम आवेदन पत्र, पंजीकरण फॉर्म और पंजीकरण शुल्क प्राप्त होने के बाद हम आपको एक ई-टोकन देते हैं और ऑनलाइन केवाईसी करते हैं। 24 घंटे के भीतर ई-मेल का सत्यापन, मोबाइल नंबर व आवेदक को भेजी गयी ओटीपी के सत्यापन के बाद यह प्रक्रिया संपन्न होती है। इसके पश्चात एजेंटों को प्रशिक्षण और स्वागत किट भेजी जाती है, जिसके बाद आप व्यापार के लिए तैयार हैं।

यह प्रक्रिया 4 -5 दिनों में पूर्ण हो जाती है।

ट्रेवल एजेंटों के प्रकार

🔯 पार्ट टाइम ट्रेवल एजेंट

अगर आप गृहणी हैं या आप साइड बिज़नेस की तलाश में हैं, तो आप इस ट्रेवल एजेंट के व्यापार की शुरुआत घर पर कर सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ एक लैपटॉप और इंटरनेट कनेक्टिविटी की आवश्यकता पड़ेगी। अकबर ट्रेवल्स द्वारा प्रशिक्षण और 24/7 सपोर्ट प्रदान किया जायेगा।

🔯 प्रोफेशनल ट्रेवल एजेंट

अगर आप ट्रैवेलिंग की दुनिया में अच्छा कमीशन कामना चाहते हैं, तो पेशेवर ट्रैवल एजेंट बनें। अगर आपको पेशेवर ट्रैवल एजेंट बारे में जानकारी नहीं है तो आपको चिंता की जरूरत नहीं है, अकबर ट्रेवल्स द्वारा प्रशिक्षण और पूरी सहायता प्रदान की जायेगी।

🔯 अधिकृत ट्रेवल एजेंट बनने के लिए जरूरी दस्तावेज

  • पैन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर और ईमेल आईडी : इस नंबर और आईडी का उपयोग सत्यापन के लिए किया जाएगा (IRCTC के साथ पंजीकृत नहीं होने चाहिए)
  • फोटो

आईआरसीटीसी ट्रेवल एजेंट बनने से क्या लाभ हैं?

  • हर बुकिंग पर भारी कमीशन कमाएँ।
  • एजेंट्स के लिए टिकट्स बुक करने के लिए कोई सीमा नहीं है।
  • अधिकृत एजेंट सामान्य सार्वजनिक टिकट खुलने के समय के 15 मिनट बाद तत्काल टिकट बुक कर सकते हैं।
  • आप सभी प्रकार की टिकट(तत्काल, वेटिंग लिस्ट, आरऐसी) को थोक में बुक कर सकते हैं।
  • आप कम से कम एक लाख रूपये प्रति माह और अधिक कमा सकते हैं।
  • टिकट बुकिंग के लिए आपको बैंक अकाउंट की जरूरत नहीं पड़ेगी, यह अमाउंट आपके एजेंट वॉलेट में से कट जायेगा।
  • आपके एजेंसी का विवरण आईआरसीटीसी की टिकट पर प्रिंट होगा।
  • IRCTC अधिकृत एजेंट बनने के लिए ट्रेड लाइसेंस की कोई आवश्यकता नहीं होती है।
आप इस प्लेटफार्म से न सिर्फ रेलवे टिकट्स बल्कि आप अंतरराष्ट्रीय फ्लाइट्स और डोमेस्टिक फ्लाइट्स, बस बुकिंग, पर्यटन / छुट्टी पैकेज, मनी ट्रांसफर और बहुत कुछ बुक कर सकते हैं।

Akbartravelsonline.com के साथ नामांकन क्यों करें?

  • 24/7 सहायता के लिए टीम
  • 24 × 7 लाइव सर्च इंजन बुकिंग सिस्टम (ट्रेन, उपलब्धता की जांच, पीएनआर स्थिति)
  • प्रत्येक बुकिंग पर अधिक से अधिक कमीशन लाभ
  • सभी लेनदेन के लिए  एक वॉलेट और खाता
  • नामांकन की कोई अतिरिक्त लागत नहीं
  • यात्रा संबंधी प्रश्नों के लिए अतिरिक्त से सहायता प्राप्त करें।
अन्य लाभ
अगर आप Akbartravelsonline.com  के साथ नामांकन करते हैं तो आप यहाँ पर रेलवे टिकट के अलावा डोमेस्टिक और अंतरराष्ट्रीय उड़ाने, होटल, बसों, वीज़ा और मनी ट्रांसफर का काम भी कर सकते हैं।

नियम
नियमों के बारे में जानने के लिए इस दस्तावेज को देखें।