Jun 19, 2018

जयपुर के रघुवीर सिंह चौधरी की success story अब हिंदी में।

जयपुर के रघुवीर सिंह चौधरी की success story अब हिंदी में।

राजस्थान के जयपुर में रहने वाले रघुवीर सिंह एक बेहद साधारण परिवार से ताल्लुक रखते हैं। एक समय ऐसा भी था जब उनके घर की हालत इतनी अच्छी नहीं थी कि वह स्कूल जाकर उच्च शिक्षा हासिल कर पाते, इसलिए मजबूरन उन्हें ई कॉमर्स साइट अमेज़न में बतौर डिलीवरी बॉय काम करना पड़ता था। जहां उन्हें महज 9000 तनख्वाह मिलती थी, लेकिन आज यह युवक ऐप के जरिए चाय बेचकर लाखों का कारोबार कर रहा है, चाय बेचकर लाखों का कारोबार करने वाले रघुवीर सिंह की सफलता के मूल मंत्र को आइए जानते हैं।
raghuveer sing, raghuveer sing success story, raghuveer chai wala, jaipur ke raghuveer, chai ka business, delivery boy start tea business
जयपुर के रघुवीर, inspirational story, 

 नाम से नहीं काम से अपनी पहचान बनाएं 

बेहद कम उम्र में इतना बड़ा स्टार्टअप शुरुआत करने वाले रघुवीर सिंह मानते हैं, कि इंसान की असली पहचान उनके नाम से नहीं बल्कि काम से बनती है, अपनी मिसाल देते हुए रघुवीर ने बताया कि दिनभर थकने के बाद रघुबीर को अक्सर चाय की तलब लगती थी, लेकिन आस-पास चाय के ठेले या दुकान ना होने की वजह से उन्हें लगातार साइकिल पर डिलीवरी करनी पड़ती थी, रघुबीर ने सोचा कि जब इतनी बड़ी कंपनी अन्य सामानों की डिलीवरी कर सकती है तो क्यों ना वह भी चाय डिलीवर करने का धंधा शुरु कर दें।

वहीं से उन्हें डिलीवरी करने का आईडिया सुझा, इसके लिए रघुवर ने एक ऐप बनाई और WhatsApp और फोन पर आर्डर प्राप्त कर डिलीवर करना शुरू कर दिया।

विपरीत परिस्थितियों में हार ना माने 

कामयाबी की राह में आने वाली अड़चन अक्सर इंसान का मनोबल तोड़ देती है। इस तरह की मुश्किलें रघुवीर के रास्ते में भी आई, दरअसल स्टार्टअप शुरू करने के बाद रघुबर के पास चाय डिलीवर करने की ढेरों फरमाइश आने लगी, इतने बड़े पैमाने पर चाय का बंदोबस्त करना और उसे डिलीवर करना काफी मुश्किल काम था, इसके लिए उन्होंने 100 से भी ज्यादा चाय वालों से संपर्क साधा और 4 बाइकों पर दोस्तों की मदद से चाय पहुंचाना शुरू कर दिया, रोजाना दर्जनों मुश्किलों का सामना करने के बाद आज रघुवीर खुद को एक कामयाब इंसान मानते हैं।

रणनीति बनाएं और मित्र गणों की सलाह लें 

रघुवीर का कहना है कि "किसी भी काम को करने से पहले उस पर शुभचिंतकों या दोस्तों की राय लेना जरूरी होता है, इससे आपको बाजार की स्थिति का बेहतर अनुभव मिलता है, रघुवीर ने शुरुआत में अपने दो दोस्तों के साथ मिलकर इस काम को शुरु किया था, 3 लोगों में से कोई भी ज्यादा पढ़ा लिखा नहीं था लेकिन कमाई के मामले में आज उसे कई दिग्गजों को मात दे रहे हैं।

रघुबीर को हर दिन 600 से 800 चाय के ऑर्डर मिलते हैं जिससे वह महीनों के लाखों रुपए कमा रहे हैं

सफलता के मंत्र 

लक्ष्य के प्रति मन में जुनून और धैर्यवान विवेक के बिना जीवन में कामयाबी की कल्पना करना मुश्किल है, अक्सर लोग केवल मन में जज्बा लिए लक्ष्य का पीछा करते हैं,जबकि धैर्य इंसान को सही समय पर सही निर्णय लेना सिखाता है।भारतीय महिला क्रिकेट टीम की तीन होनहार खिलाड़ियों ने भी जज्बे और धैर्य के बल पर खुद को शिखरनुमा ऊंचाइयों पर पहुंचाया है,

आगे इस कड़ी में हम आपके लिए लेकर आएंगे, भारतीय महिला क्रिकेट टीम के तीन शानदार खिलाड़ी के जीवन का अनकही कहानी लेकर जिसका छोटा सा भाग हम आपको यहां पर पढ़ने के लिए दे रहे हैं, अगर आपको अच्छा लगे तो हमारे पोस्ट को जरूर पढ़िएगा।

मिताली राज 

भारतीय क्रिकेट की कप्तान मिताली राज का कहना है कि "मुश्किल हालात में धैर्य ना खोना ही इंसान की सबसे बड़ी पहचान है, उसे कभी भी अपनी पहचान नहीं खोनी चाहिए, क्योंकि ईश्वर हर किसी में कुछ ना कुछ एक्स्ट्रा टैलेंट दिये रहता है,

अगर आप उस टैलेंट को पहचान कर अपना काम करेंगे तो आपको सफलता सौ प्रतिशत मिलेगी इसमें कोई दो राय नहीं है,

एकता बिष्ट 

अक्सर लोग ज्यादा जज्बे और जुनून को महत्व देते हैं, ध्यान रखें कि शारीरिक अंगों के कर्मनुसार भी दिमाग को दिल से ऊपर का दर्जा मिला है। अक्सर जुनून में लिए गए फैसलों के परिणाम अच्छे नहीं होते, इसलिए विपरीत परिस्थितियों में धर्य वान बने रहना सबसे जरूरी है, इससे आपको सही फैसले लेने और सही रणनीति बनाने में मदद मिलेगी। और अगर आप सही समय पर सही फैसला लेते हैं, तो फिर आपको कामयाब इंसान बनने से कोई नहीं रोक सकता।

झूलन गोस्वामी

इंसान का जज्बा कामयाबी की राह पर उनकी रफ्तार को तो तेज कर सकता है, लेकिन वह गति उसे सही दिशा में मिल रहा है या नहीं या धैर्य पर निर्भर करता है, जीवन में सफलता पाने के लिए कुछ एक्स्ट्रा करने की जरूरत नहीं है, बस अपने हुनर को पहचान कर अपना काम आगे बढ़ाएं, आप अपने टैलेंट के अनुसार काम करें और बाजार के अनुसार भी।

तो आपको सफलता जरूर मिलेगी बस आपको धैर्य रखने की जरूरत है, क्योंकि सफल इंसान कोई एक दिन में नहीं बन जाता, वैसे भी एक हार से भी कोई विश्व विजेता नहीं बन जाता और एक जीत से कोई सिकंदर नहीं बन जाता उसे बार-बार जीतना पड़ता है, उसी तरह आपको भी अपने काम को बार बार करते रहना होगा, तब तक जब तक कि आपका नाम कामयाब लोगों की लिस्ट में शामिल नहीं हो जाए।


तो आज हमने आपको बताया कि रघुवीर सिंह एक अमेजन का डिलीवरी बॉय से कैसे लाखों रुपए महीना कमाने लगे, हम आगे और भी इस तरह के पोस्ट आपके लिए लेकर आते रहेंगे, बस आप कमेंट के जरिए हमारा हौसला बढ़ाते रहें अगर आपको इस तरह के पोस्ट पसंद आते हैं, तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करते रहें और कमेंट करना ना भूलें।

दोस्तों यह जयपुर के रघुवीर सिंह चौधरी की सच्ची घटना है। आप लोगों के साथ यह इसलिए शेयर किया है ताकि आप भी ऐसे मोटिवेट होकर अपनी जिंदगी में कुछ अच्छा कर सके आपको कैसा लगा जरूर बताइएगा। 

Jun 18, 2018

Startup में सफल होना चाहते हैं तो कभी ना करे ये गलतियां !

Startup में सफल होना चाहते हैं तो कभी ना करे ये गलतियां !

Branding अपने आप में एक विशाल और तीव्र विषय है। और साथ में Social Media की Bragging के साथ , Marketing, Domain और Branding अब और भी अधिक मुश्किल और विशाल हो गया है. अब आप अपने Brand की World में Presence का आनंद ले सकते है. और विदेशी ग्राहकों के साथ भी जुड़ सकते है और बातचीत कर सकते है. लेकिन जब Branding और Marketing होती है तो Brand की प्रसिद्धि के साथ एक भारी दवाब भी आता है. आपके द्वारा Marketing और अपनी पहुँच बढ़ाने के लिए हर इंच पर की जाने वाली गतिविधियों पर Competitors एवं Customers की पैनी नजर होती है. तथा आपने Brand की हर महत्वपूर्ण ग्राहकों द्वारा देखी जाती है.

Startup Branding Mistake, business, startup business,

आपके Startup के दौरान आपके द्वारा कोई भी ऐसी गलती करना या कोई भी ऐसा कदम उठाना जिसके बारे में आपने सोचा हो की ये युक्ति काम करे, एक गलती से वो आपने Startup पर असर डाल सकती है.
खेर जिन्हे Startup पर अभी काम करना है उनके लिए इस प्रकार के पूर्वानुमान बाजार के स्वाभाव, बाजार में आपकी मौजूदगी, सद्भावना, ग्राहक के प्रति ईमानदारी और इसी से मिलते जुलते Factors पर निर्भर करती है. इसलिए अब आपके पास जो मिल गया है उसका Proper Analysis करना आवश्यक है.

1. सिर्फ Social Media Platform पर Socialising करना Enough नहीं है.


अपने Brand की Socialising करना किसी भी Business की सफलता की key है. और Digital Platforms  के आने से आप एक साथ हजारो लोगो के साथ काम कर सकते है. और सबसे great बात ये है की ये सस्ता है और इसमें ज्यादा Technique की कोई आवश्यकता भी नहीं है. युवा पेशेवर लोग इन सब के बारे में बहुत अच्छे से जानते है, लेकिन वो ये नहीं जानते की Social Media केवल एक Brand पेज नहीं है, बल्कि सक्रिय रूप से एक सामग्री पोस्ट करने के लिए है.

इसलिए आवश्यक है कि अपनी Brand की पहचान के लिए आप सुन्दर Images का प्रयोग करे, और अपनी Brand की सेवाओं और विशेषताओं को लोगो तक पहुंचाए. और इसके लिए जरुरत पडने पर आप Canva  जैसे Free Social Media Graphics Tools की मदद ले सकते है.

2. Analytics की शक्ति को काम करके न आंके


Social Media पर होने के नाते नियमित रूप से Post करना और Comments का जवाब देना ही एकमात्र काम है जो मायने रखता है। लेकिन एक बात है कई Startups मानते हैं कि आपके Page के Results Analyze करना और उस पर Experiment करना आपके Efforts को पूरी तरह से अलग स्तर तक ले जा सकता है. किसी भी Digital marketing Expert से पूछें, और वे आपको Analytics के महत्व बताएंगे।

3. Consistency का ध्यान रखें. 

किसी भी Brand की Followers की आँखों में एक झलक दिखाने के लिए स्वयं के लिए एक छवि बनाने की ज़रूरत होती है, और यह कार्य आपकी Offline और Online Presence में प्रत्येक Brand की Design के Look का पालन करके ही किया जा सकता है. और कभी कभी Startups इस प्रकार के Creative Efforts को करना भूल जाते है.

For Example:- एक रंग में उसके Shades की कई प्रकार हो सकते है. और आपके Brand के बारे में बात करे तो जो भी रंग आपके Brand को Represent करता हो उसका रंग बिलकुल Clear होना चाहिए. Color में जरा सी भी गड़बड़ या एक छोटा सा भी अंतर Customers में आपका विश्वास खो सकता है. इसलिए Exact रंग जानने के लिए ImageColorPicker.com पर जाएं। यहां आप आसानी से किसी भी रंग के HEX Code प्राप्त कर सकते हैं। अब आपको जो कुछ करना है उसे अपने रंग के रंगों से मेल करने के लिए Hex Color Code Copy and Paste करना है.

हालाँकि इस तरह की छोटी सी भी Image या Logo आपकी Brand की Consistency के बारे में बताता है. आपका Logo आपकी Brand का वो Central Element है जो लोगो को आपको पहचानने या याद रखने में मदद करता है. ऐसे कई Online Logo Designing Tools हैं जैसे Canva, Photoshop, आदि जो आप एक साफ Logo Design कर सकते हैं। एक बार यह पूरा हो जाने पर, इसे अपने सभी Brand पहचान तत्वों पर रखना सुनिश्चित करें, चाहे Image या Email में हो कोई फर्क नहीं पड़ता इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि आपका Logo Placement के अनुसार Scalable है, एक ख़राब या बढ़ाया लोगो कभी अच्छा नहीं लग सकता है.

और यह लोगो आपकी Social Media Post, Packaging, Website जो भी बने उसपर आपकी Consistency को बनाये रखने में सहायक है, और आपके प्रयास के बदले में, आप एक Brand पहचान बना लेंगे जो आसानी से पहचानने योग्य है क्योंकि For Example, Yellow and Red Combination हमें McDonald's  के बारे में याद दिलाते हैं

4. अपने प्रतियोगियों से प्रेरणा लेना 

एक Website बनाने या Mobile App बनाने से पहले यहाँ तक की Packaging करने से पहले भी थोड़ी सी Research and Competitor Analysis करना एक Ideal Need  है. यह सब कुछ यह जांचने के लिए किया जाता है कि Customers द्वारा किस प्रकार की प्रवृत्ति और पसंद किया गया है। हालांकि, इस प्रक्रिया में, कई Startups अंत में अपने Competitors की नकल करते हैं जिससे उनकी छवि गंभीर रूप से बाधित होती है, इसलिए चाहे कोई भी Product आपके Product से बेहतर या अभिनव हो, आपका पहला Impression अगर नक़ल करने वाला हो तो आपका Startup बिगड़ सकता है.


Conclusion
यही वास्तविकता है की अपने #Startup की #Branding में आप जो भी कर रहे हो या जो भी योजना बना रहे हो उसमे सावधानिया बरतना आवश्यक है. क्यूंकि एक छोटा-सा गलत कदम भी उनके भविष्य को बर्बाद कर सकता है, जो बड़े स्थापित Industries के मामले में नहीं है। इसलिए पहले हमेशा अपने Customer की Priority का ध्यान रखे, और उसके आधार पर अपने Query and Complaints को Respond करें, इसके बाद ही आप लंबी अवधि की दौड़ जीत सकते हैं.

Jun 5, 2018

Income Tax  E-Verification Source  (आयकर ऑनलाइन सत्यापन माध्यम)

Income Tax E-Verification Source (आयकर ऑनलाइन सत्यापन माध्यम)

Income Tax  E-Verification Source

आयकर विवरणी (Returns) के ऑनलाइन सत्यापन के लिए अनिवार्य दस्तावेज और माध्यम इस प्रकार हे | और ये दस्तावेज एवं माध्यम आपके आयकर अकाउंट और पेनकार्ड (Pan Card) से जुड़े (link) होना चाहिए | इस में आपके आयकर अकाउंट के ID और Password भी अनिवार्य हे | और जिस माध्यम का आप चुनाव करते हे उसके अकाउंट के ID और Password भी अनिवार्य रूप से आवश्यक हे |

1. आधार कार्ड (Aadhar Card)  में आपका का नाम, पता, ईमेल, मोबाइल नंबर, सही और आयकर अकाउंट के अनुसार ही होना चाहिए | जेसे दोनों में नाम, पता अलग न हो और मोबाइल नंबर, ईमेल, वर्तमान समय में सक्रीय (Active) होना चाहिए | इसमें ऑनलाइन सत्यापन प्रक्रिया अन्य माध्यमो से जल्दी पूर्ण हो जाती हे | इसका (OTP) 10 मिनिट के लिए ही (Active) वेध रहता हे | इस माध्यम में आपको आधार नंबर भी साईट पर डालकर लॉगइन करना होगा |

2. बैंक अकाउंट (Bank Account) वर्तमान समय में कई सरकारी एवं गैरसरकारी बैंक भी नेटबैंकिंग (Net Banking) के माध्यम से ऑनलाइन सत्यापन की सुविधा प्रदान करते हे इसलिए नेट बैंकिंग से लॉगइन कर आयकर विभाग की साईट पर आयकर विवरणी (Returns) ऑनलाइन सत्यापन कर सकते हे | इस माध्यम में आप बैंक अकाउंट नंबर से भी अपनी आयकर विवरणी (Returns) ऑनलाइन सत्यापित कर सकते हे | इस माध्यम का उपयोग करने से आपका रिफंड भी सीधे आप के बैंक अकाउंट में आ जाता हे | इस में भी आपका का (Pancard)  ईमेल, मोबाइल नंबर, सही और बैंक अकाउंट के अनुसार ही होना चाहिए | जेसे दोनों में नाम, पता अलग न हो और मोबाइल नंबर, ईमेल, वर्तमान समय में सक्रीय (Active) होना चाहिए |

3. डीमेट अकाउंट (Demat Account) वर्तमान समय में कुछ ब्रोकिंग कंपनी भी ऑनलाइन सत्यापन की सुविधा प्रदान करती हे | इस माध्यम में आपको Demat Account Number और DP,Client ID का विवरण देकर आयकर विवरणी ऑनलाइन सत्यापित कर सकते हे | पर इस माध्यम का उपयोग करने से आप का रिफंड डीमेट अकाउंट में प्राप्त नहीं होगा | वो केवल आपके द्वारा चुने बैंक अकाउंट में या जो बैंक अकाउंट आपके आयकर अकाउंट से जुड़ा हे उसी में प्राप्त होगा | इस में आपका का नाम, पता, ईमेल, मोबाइल नंबर, (Pancard) सही और डीमेट अकाउंट के अनुसार ही होना चाहिए | जेसे दोनों में नाम, पता अलग न हो और मोबाइल नंबर, ईमेल, वर्तमान समय में सक्रीय (Active) होना चाहिए |

इन में से किस भी माध्यम का चुनाव करने पर आपको (EVC) Electronic Verification Code प्राप्त होगा | इस (EVC) को आप आयकर विभाग की साईट में जाकर अपने आयकर अकाउंट में लोगिन कर (EVC) कोड को डालकर अपनी आयकर विवरणी (Returns) का ऑनलाइन सत्यापन कर सकते हे | ये (EVC) 72 घंटे के लिए वेध रहता हे |

इन माध्यमो के आभाव में आप को अपनी आयकर विवरणी (Returns) की प्रति आयकर विभाग के पंजीकृत पते पर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से भेजकर सत्यापित करनी होगी | इस प्रक्रिया में समय भी बहुत लगता हे और त्रुटि की भी सम्भावना रहती हे, वेसे अधिकारिक समय 72 घंटे हे |
याददाश्त जाने का कारण और रोकने के उपाय

याददाश्त जाने का कारण और रोकने के उपाय

याददाश्त जाने का कारण और रोकने के उपाय: याददाश्त क्या होता है ? और याददाश्त कम कैसे हो जाता है ?क्या इसको रोकने के भी कोई उपाय है ? अगर है तो हम आज आपको बताएंगे।

चलिए सबसे पहले हम इसी के कुछ प्रसन के ऊपर चर्चा करते है। शुरू करते हैं,  याददाश्त क्या है ? हमारे मस्तिष्क का वह भाग जहां हमारे कामकाज और जो हम दिनभर देखते हैं वह स्टोर या जमा रहता है उसे को हम याददाश्त मान सकते हैं। ताकि हम जब भी उस चीज को दुबारा देखते हैं तो हमारे दिमाग में वह चीज अपने आप ही आने लगता है, कि यह तो मैंने पहले देखा है! यह तो मैंने पहले किया है! यही तो याददाश्त है।

लेकिन आज के दौर में बढ़ते टेक्नोलॉजी के कारण याददाश्त का कमजोर होना सबसे प्रमुख समस्या के रूप में हमारे ही नहीं बल्कि पूरे संसार के सामने खड़ा हुआ है। याददाश्त जाने का मतलब होता है कि आप कुछ भी याद रखते हैं और उसको जल्द से जल्द भूल जाते हैं, जैसे घरेलू दिनचर्या में आपको यह याद नहीं रहता कि हमने अपना फलाना सामान कहां पर रखा था,

इस चक्कर में आपको बहुत देर तक ढूंढना पड़ता है तो आपको पता चलता है कि मेरा याददाश्त धीरे-धीरे कमजोर हो रहा है। याददाश्त कमजोर होना एक उम्र की बीमारी है जो कि 70 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में पहले होता था लेकिन अभी के दौर में बच्चे बूढ़े में कोई अंतर नहीं है सबके साथ ऐसा हो रहा है तो अगर आपके साथ भी ऐसा हो रहा है तो हम आपको बताते हैं कि आप इस पर कैसे नियंत्रण रख सकते हैं आज के समय में याददाश्त कमजोर होना एक बहुत बड़ी समस्या के रूप में हमारे सामने आ खड़ी है ।
याददाश्त जाने का कारण और रोकने के उपाय

याददास्त ख़त्म होने का कुछ मुख्या कारण :-

इस पोस्ट में हम बताएंगे की उनसे हम कैसे बच सकते हैं ?  यह भी बताएंगे की याददाश्त कमजोर होने पर हम कैसे याददाश्त को बढ़ा सकते हैं।

याददाश्त कैसे कम होता है? 

1. मल्टी टास्किंग काम करने से:-  दोस्तों अगर आप कई तरह का काम करते हैं तो हमारा इसस याददाश्त प्रभावित होता है , कहा जाता है कि कई कामों में माहिर होने का मतलब एक भी काम ठीक से नहीं करना।
एक साथ कई काम करने से किसी चीज पर फोकस नहीं होता। एमआईटी के न्यूरोसाइंटिस्ट अथर्व मिलर के अनुसार हमारा दिमाग मल्टी टास्किंग के लिए नहीं बना है , ऐसा करते समय हम एक काम छोड़कर दूसरा करने लगते हैं , इससे फोकस करने की दिमाग की क्षमता कम होता है।

2. इंटरनेट से बदल रहा है मेमोरी पैटर्न:-  देखा जाए तो अभी के समय में याददाश्त मोबाइल के कारण भी बहुत कम होता हो रहा है, जैसा पहले हम बहुत सारे मोबाइल नंबर याद रखा करते थे लेकिन अब 2-4 नंबर भी याद नहीं रख पाते हैं, इससे पता चलता है कि गैजेट हमारे याददाश्त को कमजोर कर रहा है । Google से हर जानकारी एक क्लिक पर मिल जाती है, इसलिए इसने दिमाग की याददाश्त से संबंधित हिस्से को सबसे ज्यादा क्षति पहुंचाई है। Google में मिलने वाली सारी जानकारी के चलते हम अपने दिमाग का ना तो पूरा यूज़ कर पाते हैं और ना ही उसे संतुलित कर पाते हैं।

परिणाम स्वरुप होता यह है कि हमारा दिमाग दिन-ब-दिन याददाश्त कमजोर होता जाता है इसमें सबसे बड़ा हाथ टेक्नोलॉजी का ही है जो पहले हम याद करने से कर लेते थे अब हम उसे सेव करके रखते हैं और यूज़ करते हैं तो ना ही इससे हमारे दिमाग का कोई कसरत होता है और ना ही हमारे दिमाग का ब्रेनवाश(Brain wash ) होता है इस कारण हमारे दिमाग से याददाश्त दिन-ब-दिन कम होता जाता है

याददाश्त कमजोर होने से कैसे बचा जा सकता है 

कोलंबिया यूनिवर्सिटी के शोध के अनुसार इंटरनेट,स्मार्टफोन,टैबलेट मेमोरी पैटर्न बदल रहे हैं। इसमें  (क्या और कैसे) याद रखने की क्षमता प्रभावित हो रही है, हर सामान्य बात पर Google का सहारा लेना ठीक नहीं है।

अब हम आपको बताएंगे कि आप कैसे दिन में छोटे-छटे काम करते हैं तो उसी में अगर कुछ बात को आप जोड़ते जाते हैं तो आपका दिमाग से याददाश्त जाने की संभावना लगभग आधी कम हो जाती है और काफी हद तक आपका दिमाग साफ सुथरा और सही सोचने के लिए डेवेलोप होता है। इन निम्नलिखित बातों  का आप अपने ध्यान में रख लीजिए और उसके अनुसार आप कम कीजिए तो आपको कुछ ना कुछ फायदा जरुर होगा आइए हम देखते हैं।

टिप्स 1. अगर आप 2 मील रोज चलते हैं तो उससे हमारा याददाश्त बढ़ता है, जब हम अपने आसपास के पर्यावरण से जुड़ते हैं तो दिमाग अधिक जानकारियां ग्रहण करने के लिए विकसित होता है।  रोज 40 मिनट पैदल चलने वालों का डिमेंशिया की संभावना 60% तक कम हो जाती है, अमेरिका की पीटर्सबर्ग यूनिवर्सिटी के शोध के अनुसार रोज कम से कम 2 मील पैदल चलने वालों की याददाश्त पर उम्र का असर बहुत कम होता है, और वह लंबी उम्र में भी अपनी याददाश्त को मेंटेन करके रखते हैं।

कहने का मतलब अगर आप 2 किलोमीटर चल लेते हैं तो इससे बहुत ज्यादा फायदा आपको मिल जाता है कि आपका याददाश्त जाने का संभावना कम हो जाता है आपके शरीर पर प्राकृतिक का हवा लगने से मन शुद्ध हो जाता है और जब आप का मन शुद्ध है और शरीर स्वस्थ है तो आपके पास यादाश्त हो या कोई और भी बीमारी हो तो जल्दी पास आने में टाइम लग जाता है वह नहीं आ पाता है। 

आपके नजदीक में पार्क है तो कम से कम इतना करें कि जो 3 किलोमीटर चल लिया करें या अगर फिर आपके पास साइकिल है या फिर दौड़ने वाला मशीन है तो आप वहां भी इस तरह का कसरत कर सकते हैं। इससे आपको यह फायदा होगा और अगर आप ऐसा करते हैं तो उस टाइम आप यह ध्यान रखें कि आप जूते या चप्पल नहीं पहने हो, आपको बहुत ज्यादा फायदा होगा अगर आप सुबह सुबह उठकर हरी घास पर चलते हैं और दौड़ते हैं तो उससे भी आपके याददाश्त पर बहुत ज्यादा असर होता है

टिप्स 2. नई भाषा सीखने से भी बढ़ती है याददाश्त- कहते हैं कि अगर दिमाग को भी लगातार कसरत की तरह चलाते रहे, तो खास तौर पर तब जब उम्र बढ़ रही हो तो हमारा दिमाग किसी भी चीज को जल्दी से जल्दी पकड़ने का कोशिश करता है। स्वीडन में हुए एक शोध के अनुसार बढ़ती उम्र में एक नई भाषा सीखना यादाश्त बढ़ाता है, इससे दिमाग का हिप्पोकैंपस और सेरेब्रल कार्टेक्स का हिस्सा मजबूत होता है, मस्तिष्क का यह हिस्सा विचार और याद के लिए होता है।

अगर आपको कम उम्र में भी भूलने का और याददाश्त गुम हो जाने का आदत है तो आप कुछ काम करके आप इससे बच सकते हैं जैसे आप घर में अगर बैठे रहते हैं तो आप ऐसा करें कि कुछ बुक मंगा लें और उसे पढ़ें लगातार पढ़ते रहें जिससे होगा यह कि आप का दिमाग हमेशा चलता रहेगा और लगातार कसरत करता रहेगा अगर आपका दिमाग लगातार चलता रहेगा तो फिर आप नए भाषा सीखेंगे नई चीज सीखेंगे और नई चीज सीखने से हमारे दिमाग का विकास होता है हमारे याददाश्त का विकास होता है इससे आपको कोई भी दिक्कत भी नहीं होगा और आपका याददाश्त भी बना रहेगा।

हमने आपको यह बताया कि याददाश्त को कैसे बचा सकते हैं और यादाश्त जाने के क्या कारण है यानी कि भूलने की बीमारी क्या है और हम क्यों भूलते हैं और इससे बचने का क्या उपाय है हमारे दुनिया के प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय और संस्थान के वैज्ञानिक के बारे में भी आपको बताया है तो इस लिखे गए आर्टिकल पर आप अपना प्रतिक्रिया जरूर दें कि आपको यह आर्टिकल कैसा लगा ताकि हम आपके लिए और भी तरह तरह के पोस्ट लेकर आते रहेंगे धन्यवाद

Jun 3, 2018

40 Mahatma Gandhi quotesहिंदी में

40 Mahatma Gandhi quotesहिंदी में

50 Mahatma Gandhi quotes in Hindi - महात्मा गाँधी के अनमोल विचार:- एक ऐसी हस्ती जिनको सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में जाना जाता है सिर्फ अपने कर्मो की वजह से ही। महात्मा गाँधी जी ने सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलकर भारत को अंग्रेजो से मुक्त करवाया। चलिए जानते है उनके कुछ Inspiring quotes in Hindi.
Mahatma Gandhi quotes, 50+ Mahatma Gandhi quotesहिंदी में
Mahatma Gandhi

महात्मा गाँधी जीवन परिचय

पूरा नाम - मोहन दास करम चंद गाँधी
जन्म - 2 अक्टूबर, 1869
उपाधि - राष्ट्रपिता (बापू)
मृत्यु - 30 जनवरी 1948

Mahatma Gandhi quotes in Hindi - महात्मा गाँधी के अनमोल विचार


#1 आपको इंसानियत से कभी भी भरोसा नहीं तोडना चाहिए क्योकि इस संसार में इंसानियत एक ऐसा सुमंदर है जहा अगर कुछ बूंद गन्दी भी हो जाये तो भी समुन्दर गन्दा नहीं होता।

#2 अपने आपको जीवन में ढूँढना है तो लोगों की मदद में खो जाओ।

#3 कुछ ऐसा जीवन जियो जैसे की तुम कल मरने वाले हो, कुछ ऐसा सीखो जिससे कि तुम हमेशा जीने वाले हो।

#4 एक आँख के बदले आँख ही पूरी दुनिया को अँधा बना कर समाप्त होती है।

#5 यह स्वास्थय ही है जो हमारा सही धन है, सोने और चांदी का मूल्य इसके सामने कुछ भी नहीं है।

#6 खुशी तब मिलेगी जब आप जो सोचते है, जो कहते है और जो करते है, सामंजस्य में हो।

#7 तभी बोलो जब वो मौन से बेहतर हो।

#8 आप खुद में बदलाव कीजिये जो आप दुनिया में देखना चाहते है।

#9 एक आदमी अपने विचारो से ही बनता है, जो वो सोचता है, वही बन जाता है।

#10 एक विनम्र तरीके से आप पूरी दुनिया को हिला सकते है।

#11 काम की अधिकता नहीं, अनीयमितता आदमी को मार डालती है।

#12 अगर आप खुद नहीं करोगे तो आपके पास कोई परिणाम नहीं होगा।

#13 पहले वो तुम्हारी उपेक्षा करेंगे, फिर वो तुम पर हसेंगे, फिर वो तुमसे लड़ाई करेंगे, मगर अंत में जीत तुम्हारी ही होगी।

#14 कमजोर किसी को माफ़ नहीं कर सकते, माफ़ करना मजबूत लोगो की निशानी है।

#15 जो काम आप खुद कर सकते हो, उस काम को दुसरो से नहीं करवाना चाहिए।

#16 अपनी गलती को स्वीकारना झाड़ू लगाने के बराबर है, जो फर्श को चमकदार बना देता है।

#17 जो पसंद है वही मत करो, जो करना पड़ेगा उसको पसंद करो।

#18 मुर्ख व्यक्ति क्रोध को जोर जोर से प्रकट करता है लेकिन बुद्धिमान व्यक्ति शांति से वश में कर लेता है।

#19 भूल करने में पाप तो होता है लेकिन उसको छिपाने में उस से भी बड़ा पाप होता है।

#20 अपनी बुरे हमेशा सुने अपनी तारीफ कभी भी नहीं सुने।

#21 आज आप जो करते है उसपर आपका भविष्य निर्भर करता है।

#22 थोडा सा अभ्यास, बहुत सारे उपदेशो से बेहतर है।

#23 पाप से नफरत करो पापी से नहीं।

#24 कायरता से कही अच्छा है लड़ते लड़ते मर जाना।

#25 मेरी अनुमति के बिना कोई भी मुझे ठेस नहीं पंहुचा सकता।

#26 कुछ लोग सफलता के सपने देखते है जबकि कुछ लोग जागते है और कड़ी मेहनत करते है।

#27 पुस्तको का मूल्य रत्नों से भी कही अधिक है, क्योकि पुस्तकें मनुष्य को उज्ज्वल करती है।

#28 अकलमंद इंसान काम करने से पहले सोचता है और मुर्ख इंसान काम करने के बाद।

#29 आख के बदले में आख पूरी दुनिया को अँधा बना देगी।

#30 चिंता के समान शरीर का नाश करने वाला और कोई नहीं है, जिसको इश्वर में विश्वास हो उसको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है।

#31 ऐसे बहुत से कारण है जिसके लिए मै मर जाऊंगा, लेकिन ऐसा एक भी कारण नहीं है जिसके लिए मै मरूँगा।

#32 विश्वास करना एक गुण है, अविश्वास दुर्बलता की जननी है।

#33 भगवान का कोई धर्म नहीं होता है।

#34 जहा प्रेम है वह जीवन है।

#35 जो लोग अपनी प्रशंसा के भूखे होते है, वे लोग साबित करते है की उनमे योग्यता नहीं है।

#36 जिस दिन प्रेम की शक्ति, शक्ति के प्रति प्रेम पर हावी हो जाएगी, दुनिया में अमन आ जायेगा।

#37 महिला को कमजोर जाती कहना एक अपमान है, यह आदमी का महिला के प्रति किया गया अन्याय है।

#38 विश्वास को हमेशा तर्क से तोलना चाहिए, जब विश्वास अँधा हो जाता है तब वह मर जाता है।

#39 पूंजी बुरी नहीं है, उसका गलत उपयोग करने में बुराई है, किसी ना किसी रूप में पूंजी की आवश्कता ज़रूर रहेगी।

#40 जो भी चाहे वह अपनी अंतरात्मा की आवाज़ सुन सकता है, यह सबके अन्दर होती है।


🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺🔻🔺
इस पोस्ट का श्रेय - Manjeet singh जो 
की www.hindimearticle.com को चला रहे है
 और इसके फॉउंडर  भी है।

May 29, 2018

GDPR (General Data Protection Regulation) की पूरी जानकारी- what is GDPR in Hindi ?

GDPR (General Data Protection Regulation) की पूरी जानकारी- what is GDPR in Hindi ?

आपका एक बार फिर से हमारे हिंदी ब्लॉग (Hindi articles) पर स्वागत है। आजकल एक शब्द काफी चलन/चर्चा  में आया है, #GDPR (General Data Protection Regulation). आपको पता है क्या होता है ये ? आईये जानते है GDPR के बारे में। Complete जानकारी देने की पूरी कोसिस करेंगे वो भी आपके और हमारे मात्र भाषा हिंदी में, और सरल शब्दों में। इस लेख को पूरा निचे तक पढ़े ताकि आपके mind के लगभग सभी सवाल(Question) के जवाब(Answer) आसान और सरल शब्दों में बताएँगे।
GDPR (General Data Protection Regulation), hindi, gdpr kya hai

आज आपको यह पोस्ट पढ़कर पता चलेगा कि- 

  • GDPR क्या है ? 
  • GDPR से हमारे ब्लॉग या साइट पर क्या प्रभाव पर सकता है ?
  • इसके Rule & Terms क्या है ?
  • GDPR के नियम नहीं मानने पर क्या हो सकता है ?
  • GDPR से सम्बंधित कुछ सवाल जवाब (Question Answer).
ये कुछ topics है जो की इस पोस्ट में कवर करेंगे और सही सही जानेंगे इसके बारे में ताकि हमारा कही पर Doubt न रहे इस GDPR के बारे में। 

GDPR क्या है ?

GDPR एक प्रकार की Policy ओर LAW  है जो की European country के लोगो के लिए बनाया गया है। यह European नागरिको के डाटा की प्रोटेक्शन के लिए बनाया गया एक कानून है जो की सभी company को माननी पड़ेगी।  हाल ही में बहुत सी बाते अपने सुनी होगी की बहुत सी कम्पनिया अपने users के डाटा को ट्रैक कर उसे बेच रहे है जिसमे एक फेसबुक जैसे बड़ी कंपनी भी शामिल है। 

GDPR का मतलब जनरल डाटा प्रोटेक्शन रेगुलेशन [General Data Protection Regulation] होता है।
law of European में European Commission के द्वारा एक 28 सदस्य दल का डाटा अऔर यूरोपियन सिटीजन डाटा प्रोटेक्शन के बारे में बात किया गया था। इस कानून में यह जानने का अधिकार दिया जाता है कि यूरोप के पब्लिक का कोई भी पर्सनल डाटा कोई भी कहां यूज करता है, इसका गठन 24 अप्रैल 2016 को हुआ था उसके बाद 1995 EC Directive On Data Protection, 25 मई 2018 को लागू किया गया जिसको 2 साल की वैधता घोसित किया गया है। 

इसके Rule & Terms क्या है ?

अगर आपके पास कोई Website है या Blog है तो आप इसके बारे में जरुर जानते होंगे, कि कुछ दिनों से आपके साइट पर एक मैसेज आ रहा है 

NOTE: This Image For Blogspot users.

वह यूरोपियन यूनियन का Massage होता कि आपके पास जितने भी पर्सनल डाटा है,  वह आप कहां यूज़ करते हैं वह आपको प्राइवेसी पॉलिसी {Privacy Policy} पेज में बताना होगा। यही नियम EC Derective On Data Protection का है। 

इसके बारे में हम आपको और बताते हैं..इससे हमारे साइट पर या वेबसाइट पर यह फर्क पड़ेगा.
  1. Amazon
  2. Flipkart
  3. शॉपक्लूज जैसे कोई आपका साइट है।
  4. या फिर Quikr, OLX के जैसे कोई आपका साइट है 
  5. अगर आपने अपने साइट पर न्यूज़लेटर लगाया हुआ है तो आप उसका डाटा का यूज़ कहां करते हैं।
  6. अगर आप Google Analytics यूज़ करते हैं तो आप उसका डाटा कहां यूज करते हैं।
आपको यह प्राइवेसी पॉलिसी में बताना होगा कि आप को जो भी डाटा कलेक्ट होता है, किसी भी यूजर का वेबसाइट पर तो वह डाटा आप कहां यूज करते हैं और आप किस तरह से उस डाटा को प्रोटेक्ट करते हैं।

इसी नियम को यूरोपियन कमीशन के द्वारा 24 अप्रैल 2016 को लागू किया गया था। 

उसमें संशोधन करके 25 मई 2018 से इसको लागू किया गया जो यूरोप में नहीं सभी देश में भी और पूरे जहां-जहां इंटरनेट चलता है वहां से इस तरह का डाटा कलेक्ट किया जा रहा है कि आप जो भी डाटा Costmor से लेते हैं। 

उनका क्या यूज करते हैं और कैसे यूज करते हैं 

हम आपको यह बताते हैं कि पहले के समय में और अभी के समय में इससे क्या फर्क पड़ा है।

सबसे पहले यह पढ़ा है कि आए दिन जिस तरह से आप सुनते रहते हैं कि डाटा गड़बड़ हो गया हैक कर लिया चोरी हो गया।तो इस तरह की घटनाएं अब आपके साथ नहीं होगी आप पहले से ज्यादा सिक्योर होंगे क्योंकि 
  1. अगर कोई बैंक या किसी और जगह पर आप अपना डाटा देते हैं तो 
  2. आपको यह जानने का पूरा अधिकार रहता है कि आपका डाटा कहां-कहां यूज़ किया जा रहा है और
  3. अगर किसी तरह का मिस यूज़ हो रहा है तो 
  4. आप उस पर GDPR के तहत EC सिटीजन लॉ ऑफ यूरोपियन के माध्यम से आप उस पर कानूनी कार्रवाई भी कर सकते हैं
  5. अगर आप कोई बाइक लेते हैं तो आप जो डाटा देते हैं...वह डाटा कहां यूज़ होता है यह भी आप जान सकते हैं
यह सिर्फ एक उदाहरण है आप हर उस जगह पर या पता लगा सकते हैं कि आपके डेटा का क्या उपयोग हो रहा है जहां आपका डाटा कलेक्ट कर के रखा हुआ हो।

हम आपको हम बताएंगे की GDPR का फायदा क्या है

  1. GDPR का फायदा यह है कि सबसे पहले खुद आपको फायदा होगा और आपको यह पता चलेगा कि आपका डाटा किस जगह और कैसे यूज़ हो रहा है।
  2. आप अगर कोई बिजनेस करते हैं तो आपका कस्टमर आपके साथ सही और सत्य तरीके से आपके पास आएगा क्योंकि उन्हें पता है कि आप उनका डाटा सिक्योर रखते हैं।
  3. आपके पास अगर किसी तरह का कोई भी डाटा है। तो भी आप उसका दुरुपयोग नहीं कर सकते हैं और यह आपके बिजनेस के लिए फायदा है और आप से जुड़े हुए लोगों को भी आप से फायदा है  
  4. अगर आपका डाटा साइबर सिक्योरिटी के पास है तो साइबर सिक्योरिटी को भी फायदा है कि आपका डाटा वहां भी सिक्योर रहेगा।
  5. personal data protection  रहने से आपका इन्वेस्टमेंट इनक्रीस होगा, आपका लोग आपके बिजनेस में पैसा लगा सकते हैं, क्योंकि उन्हें यह भरोसा रहेगा कि आप उनके डाटा और का दुरुपयोग नहीं कर सकते हैं। 

GDPR का उलंग्गन करने पर किया होगा ?

आप EC यूरोपियन के नियम को नहीं मानते हैं तो आपको 20 मिलियन तक का जुड़वाना जुर्माना भरना पड़ सकता है अगर आप छोटे-मोटे बिजनेस करते हैं, और व्यापारी हैं तो जुर्माना राशि कम या ज्यादा हो सकता है।

भारत पर इसका असर क्या है ?

भारत में भी ऐसे बहुत सी कंपनियहै जो एउरोपियन कंट्री से साथ व्यापर कर रही है, उन पर इसका असर हो सकता है. मसलन यदि किसी वेबसाइट का यूजर यूरोप से ऑपरेट कर रहा है तो ऐसे में भारतीय कम्पनियों को अपने नियमों एवं शर्तों में बदलाव करना होगा.
और उन्हें साफ साफ ईमेल, नोटिफिकेशन  द्वारा शुचित करना होगा। अथवा penalty का भुगतान करना पद सकता है।  

#Some Question/Answers About GDPR For Indians ?
Question 1. क्या हम हिंदी ब्लॉगर को अपनी privacy policy Update करनी पड़ेगी ?
Answer . हाँ , अगर आपके ब्लॉग/वेबसाइट में European country से ट्रैफिक है तो आपको करना पड़ेगा। यदि नहीं , कोई परेशानी नहीं।

Question 2. वेबसाइट/ब्लॉग के लिए privacy policy कहाँ से बनाएं ?
Answer. इस वेबसाइट( https://www.freeprivacypolicy.com/ ) से आप फ्री में बना सकते है privacy policy.

Question 3.  GDPR किस country के लिए लागु  के लिए लागु हुआ है ?
Answer. Europeans Country

Question 4. ब्लॉगर में cookies कैसे install करे ?
Answer .  आप (https://cookieconsent.insites.com) के मदद से कूकीज install कर सकते है। 


GDPR को और भी बेहतर समझने के लिए इस वीडियो को भी देखे। 

आपको यह पोस्ट पढ़कर कैसा लगा हमें जरूर बताइएगा और अगर आपको किसी और तरह की जानकारी चाहिए तो आप हमें कमेंट कर सकते हैं हम कमेंट का रिप्लाई करके आपके सभी क्वेश्चन का आंसर देने का कोशिश करेंगे तब तक के लिए धन्यवाद आप हमारे साथ बने रहे एंड कीप विजिटिंग।।।