Aug 16, 2018

अटल बिहारी वाजपेयी -निधन 16 August 2018 और परिचय।

प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का निधन 16 अगस्त 2018 

तीन बार प्रधानमंत्री रहे भाजपा के वरिष्ठ नेता अटल बिहारी बाजपेयी का गुरुवार को नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया। राजघाट के पास स्थित राष्ट्रीय स्मृति भवन में उनका अंतिम संस्कार किया गया।

बीते 36 घंटों से उनकी हालत नाज़ुक बनी हुई थी और तमाम प्रयासों के बावजूद उनके स्वास्थ्य में कोई सुधार नहीं हो पाया. तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निधन पर शोक व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, ‘अटल जी आज हमारे बीच में नहीं रहे, लेकिन उनकी प्रेरणा, उनका मार्गदर्शन, हर भारतीय को, हर भाजपा कार्यकर्ता को हमेशा मिलता रहेगा. ईश्वर उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे और उनके हर स्नेही को ये दुःख सहन करने की शक्ति दे. ओम शांति!’

अपूरणीय क्षति बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उन्होंने जीवन का प्रत्येक पल राष्ट्र को समर्पित कर दिया था और उनका जाना, एक युग का अंत है.


एक अन्य ट्वीट में मोदी ने कहा, ‘यह अटलजी कर दृढ़ता और संघर्ष की वजह से ईंट दर ईंट भाजपा का निर्माण हुआ. पार्टी का संदेश फैलाने के लिए उन्होंने पूरे भारत का भ्रमण किया था, इसी की वजह से भाजपा राष्ट्रीय राजनीति और तमाम राज्यों में मज़बूती के साथ उभरी.’

मोदी ने कहा कि यह अटल बिहारी वाजपेयी के अभूतपूर्व नेतृत्व के कारण ही 21वीं सदी में मज़बूत, समृद्ध और समावेशी भारत की नींव स्थापित हुई. विभिन्न क्षेत्रों में उनकी भविष्योन्मुखी नीतियों ने प्रत्येक भारतीय नागरिक के जीवन को छुआ.

उन्होंने कहा, अटल जी का जाना मेरे लिए निजी और कभी न भर सकने वाली क्षति है. उनके साथ मेरी तमाम यादें जुड़ी हुई हैं. मेरे जैसे कार्यकर्ताओं के लिए वह प्रेरणा थे. मैं उनकी बुद्धिमत्ता और असाधारण हाज़िरजवाबी को हमेशा याद रखूंगा


अटल बिहारी वाजपेयी जीवन परिचय 

अटल बिहारी वाजपेयी का जन्म 25 दिसम्बर 1924 को ब्रह्ममुहर्त में 4.30 से 5 के बीच ग्वालियर मध्य प्रदेश में हुआ था | इनके पिता का नाम कृष्ण बिहारी वाजपेयी था जो मध्य प्रदेश रियासत में अध्यापक थे | इनकी माता का नाम कृष्णा वाजपेयी था | अटल जी की प्राम्भिक शिक्षा ग्वालियर के विक्टोरिया कालेज में हुई यह से उन्होंने अपनी बी.ए. की डिग्री प्राप्त की वर्तमान में इस कॉलेज का नाम रानी लक्ष्मी बाई कॉलेज हे | फिर कानपूर के डी.ए.वी. कॉलेज से राजनीती शास्त्र में एम.ए. की डिग्री प्राप्त की | बाद में अपने पिता के साथ कानपूर से ही एल.एल.बी. की शिक्षा प्रारम्भ परन्तु एस कार्य को अधुरा छोड़ पूर्ण रूप से संघ से जुड़ गए |
अटल बिहारी वाजपेयी
अटल बिहारी वाजपेयी 

एक कवि के रूप में अटल जी एक श्रेष्ठ वक्ता और हिंदी के सिद्ध कवि हे | कियोकी काव्य के गुण अटल जी को विरासत में मिले | इनके पिता कृष्ण बिहारी वाजपेयी अध्यापक होने के साथ हिंदी और ब्रज भाषा के सिद्ध कवि थे | छात्र जीवन से अटल जी की काव्य में रूचि थी, महात्मा रामवीर की अमर रचना “विजय पताका” पड़कर अटल जी काव्य रचना एवं हिंदी साहित्य से और व्यापक रूप से जुड़ गए |


और अध्यन काल से ही वे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक बने, और तभी से राष्ट्रीय स्तर की वाद वादविवाद प्रतियोगिता में भाग लेते रहे | और आगे चल कर डा श्यमा प्रसाद मुखर्जी एवं पंडित दीनदयाल उपाध्याय से राजनीती की शिक्षा ली, और साथ ही साथ पांचजन्य, राष्ट्रधर्म, देनिक सवदेश, वीर अर्जुन, जेसे पत्र पत्रिका का संपादन भी किया | हलाकि अपनी राजनितिक सक्रियता के चलते वे अपने काव्य गुण का  ज्यादा उपयोग नहीं कर पाए |

सन 1955 में अपना पहला लोकसभा का चुनाव लड़ कर अपने राजनितिकजीवन की शुरुवात की, हलाकि इस चुनाव में उन को उनको हार का सामना करना पड़ा | सन 1957 में बलरामपुर उत्तरप्रदेश से दुबारा लोक सभा चुनाव जीत कर लोकसभा पहुचे | सन 1957 से 1977 तक जनता पार्टी की स्थापना तक जनसंघ के संसदीय दल के नेता रहे | मोरारजी देसाई सरकार में सन 1977 से 1979 तक विदेश मंत्री रहे |

सन 1980 में जनता पार्टी छोड़ कर, भारतीय जनता पार्टी की स्थापना में मदद की | और सन  6 अप्रेल 1980  को भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष बने | दो बार राज्य सभा सदस्य चुने गए | पहली बार सन 16 मई 1996 से 1 जून  1996 तक प्रधान मंत्री बने ये कार्यकाल 16 दिन चला | दूसरी बार सन 19 मार्च 1998  को अटल जी दूसरी बार प्रधान मंत्री बने ये कार्यकाल 13 माह तक चल | सन 17 अप्रेल 1999 एक मत से सरकार बहुतमत से बेदखल कर दिया गया |


 सन 13 अक्टूबर 1999 को अटल जी तीसरी बार प्रधान मंत्री बने ये कार्यकाल पुरे पांच साल 22 मई 2004 तक चला | अपना कार्यकाल पूरा करने वाली पहली गेरकांग्रेसी सरकार थी | सन 2005 में अटल जी सक्रीय राजनीती से सन्यास ले लिया | वर्तमान में वे अपने 6A कृष्णा मेनन मार्ग नई दिल्ली स्थित सरकारी आवास में रहते हे |

SHARE THIS

Author:

हेल्लो दोस्तों मैं हारून, इस ब्लॉग Hindiarticles.com का founder(Owner) हूँ. आप सभी के सहयोग से हमारा यह ब्लॉग, हिन्दी और हिंगलिश भाषा में blogging, digital marketing, internet की जानकारी, क्या-कैसे, computer से सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करतें है| 

2 comments: