May 29, 2016

जीवन में खेलों का महत्त्व [Importance of sports in our life]

importance of sport in our life hindi essay


प्रस्तावना- कहा जाता था –     खेलोगे-कूदोगे, होगे ख़राब
                                               पढ़ोगे-लिखोगे, बनोगे नवाब |
आज यह मान्यता बदल चुकी है | खेल-कूद को शिक्षा का अनिवार्य अंग मानकर महत्त्व दिया जाता है | समाज में खिलाडियों को आदर-मान प्राप्त होता है | वे बच्चों के आदर्श बन बन गये हैं | शारीरिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले खेल-कूद को जीवन में महत्त्व दिया ही जाना चाहिए |

विस्तार-

खेलों से शारीर स्वस्थ और शक्तिशाली बनता है | रक्त-संचार बढ़ता है | मांसपेशियाँ और हड्डियँ मजबूत बनती है | पसीना निकलने से शारीर से विष-तत्व बहार निकल जाते है | पाचन-क्रिया भी सुचारु हो जाती है | इस तरह शारीर चुस्त और फुर्तीला बना रहता है |

बच्चों के लिए तो खेल भोजन जितना ही महत्त्व रहता है | बच्चे और खेल एक-दुसरे से अभिन्न रूप से जुड़े है | बच्चे की यदि खेल में रूचि न हो तो निश्चय ही यह चिंता का विषय बन जाता है | शारीरिक विकास की तो नींव होती ही है, साथ ही ए बौधिक और भावनात्मक विकास के लिए भी अवश्यक हैं | खेल मन को रमाते हैं | उत्फुल्लता का संचार करके भावनात्मक संतुष्टि प्रदान करता हैं | सामूहिक खेल बौद्धिक विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं | इससे आपसी-तालमेल और सूझ-बुझ विकसित होती है | सारे तनावों को भुलाकर मन जब खेल में रम जाता  है तो व्यक्ति जीवन के दुःख-दर्द भूल जाता है | इस प्रकार खेल तनाव-मुक्त कर हमें मानसिक शांति भी प्रदान करता है |
खेलो का एक उद्देश्य संघर्षो से उरने और उनका सामना करने की क्षमता पैदा करना भी है | ‘खेल-भावना ’ जीवन में विपरीत स्थितियों का मुकाबला करने का साहस देती है | विषम परिस्थितियों में भी निराशा और उदासी उसे नही घेरती है | संघर्षपूर्ण और तनावों से घिरा जीवन में खेल टॉनिक का काम करते है | हम सुख-दुःख को संभव से लेना सीखते है |
किताबी-कीड़ा बनने वालों का जीवन असंतुलित रहता है | सहयोग-सहकर का प्रशिक्षन खेलो से प्राप्त होता है | विवेकानंद जी ने कितना सही कहा था—

“ गीता के अभ्यास की आपेक्षा फुटबोल खेलकर तुम स्वर्ग के अधिक निकट पहुच जाओगे कलाई
और भुजाएँ मजबूत होने पर तुम गीता को अधिक अच्छी तरह समझ सकोगे | 

Importance of Sports in our Life
उपसंहार- स्पष्ट है की खेल कितना हमारे स्वस्थ के लिए अधिक महत्वपूर्ण हैं | स्वस्थ शारीर में ही स्वस्थ मन निवास करता है | स्वस्थ व्यक्ति न केवल अपना जीवन सँवारता है, वह दुनिया से अन्याय, शोषण और हर बुराई से लड़ने की हिम्मत भी प्राप्त करता है |



 ये essay आपको कैसा लगा  कृपया हमें बताये । और हमारे साथ जुड़े रहे । ओर हमारे सारे लेख को share करें like करें ओर comment करें ।  हम आपके लिए ढेड़ सारे articles इसी तरह लाते  रहेंगे धन्यवाद ॥    



SHARE THIS

Author:

हेल्लो दोस्तों मैं हारून, इस ब्लॉग Hindiarticles.com का founder(Owner) हूँ. आप सभी के सहयोग से हमारा यह ब्लॉग, हिन्दी और हिंगलिश भाषा में blogging, digital marketing, internet की जानकारी, क्या-कैसे, computer से सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करतें है| 

4 comments:

  1. Agar main is essay ko exam main kar ka aaoga tho mujhe kitne number maligai plz bolo send me sms sms no:9350812082

    ReplyDelete
    Replies
    1. yahi sawal aap apne Class teacher se puche .. unka kiya ray hai....

      Delete
  2. very inspirational and good essay

    ReplyDelete
  3. It's really a nice and useful piece of information. I am happy that you shared this useful information with us. Please keep us informed like this. Thank you for sharing. yahoo email login

    ReplyDelete