May 29, 2016

जीवन में खेलों का महत्त्व [Importance of sports in our life]

importance of sport in our life hindi essay


प्रस्तावना- कहा जाता था –     खेलोगे-कूदोगे, होगे ख़राब
                                               पढ़ोगे-लिखोगे, बनोगे नवाब |
आज यह मान्यता बदल चुकी है | खेल-कूद को शिक्षा का अनिवार्य अंग मानकर महत्त्व दिया जाता है | समाज में खिलाडियों को आदर-मान प्राप्त होता है | वे बच्चों के आदर्श बन बन गये हैं | शारीरिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले खेल-कूद को जीवन में महत्त्व दिया ही जाना चाहिए |

विस्तार-

खेलों से शारीर स्वस्थ और शक्तिशाली बनता है | रक्त-संचार बढ़ता है | मांसपेशियाँ और हड्डियँ मजबूत बनती है | पसीना निकलने से शारीर से विष-तत्व बहार निकल जाते है | पाचन-क्रिया भी सुचारु हो जाती है | इस तरह शारीर चुस्त और फुर्तीला बना रहता है |

बच्चों के लिए तो खेल भोजन जितना ही महत्त्व रहता है | बच्चे और खेल एक-दुसरे से अभिन्न रूप से जुड़े है | बच्चे की यदि खेल में रूचि न हो तो निश्चय ही यह चिंता का विषय बन जाता है | शारीरिक विकास की तो नींव होती ही है, साथ ही ए बौधिक और भावनात्मक विकास के लिए भी अवश्यक हैं | खेल मन को रमाते हैं | उत्फुल्लता का संचार करके भावनात्मक संतुष्टि प्रदान करता हैं | सामूहिक खेल बौद्धिक विकास में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं | इससे आपसी-तालमेल और सूझ-बुझ विकसित होती है | सारे तनावों को भुलाकर मन जब खेल में रम जाता  है तो व्यक्ति जीवन के दुःख-दर्द भूल जाता है | इस प्रकार खेल तनाव-मुक्त कर हमें मानसिक शांति भी प्रदान करता है |
खेलो का एक उद्देश्य संघर्षो से उरने और उनका सामना करने की क्षमता पैदा करना भी है | ‘खेल-भावना ’ जीवन में विपरीत स्थितियों का मुकाबला करने का साहस देती है | विषम परिस्थितियों में भी निराशा और उदासी उसे नही घेरती है | संघर्षपूर्ण और तनावों से घिरा जीवन में खेल टॉनिक का काम करते है | हम सुख-दुःख को संभव से लेना सीखते है |
किताबी-कीड़ा बनने वालों का जीवन असंतुलित रहता है | सहयोग-सहकर का प्रशिक्षन खेलो से प्राप्त होता है | विवेकानंद जी ने कितना सही कहा था—

“ गीता के अभ्यास की आपेक्षा फुटबोल खेलकर तुम स्वर्ग के अधिक निकट पहुच जाओगे कलाई
और भुजाएँ मजबूत होने पर तुम गीता को अधिक अच्छी तरह समझ सकोगे | 

Importance of Sports in our Life
उपसंहार- स्पष्ट है की खेल कितना हमारे स्वस्थ के लिए अधिक महत्वपूर्ण हैं | स्वस्थ शारीर में ही स्वस्थ मन निवास करता है | स्वस्थ व्यक्ति न केवल अपना जीवन सँवारता है, वह दुनिया से अन्याय, शोषण और हर बुराई से लड़ने की हिम्मत भी प्राप्त करता है |



 ये essay आपको कैसा लगा  कृपया हमें बताये । और हमारे साथ जुड़े रहे । ओर हमारे सारे लेख को share करें like करें ओर comment करें ।  हम आपके लिए ढेड़ सारे articles इसी तरह लाते  रहेंगे धन्यवाद ॥    



SHARE THIS

Author:

हेल्लो दोस्तों मैं हारून, इस ब्लॉग Hindiarticles.com का founder(Owner) हूँ. आप सभी के सहयोग से हमारा यह ब्लॉग, हिन्दी और हिंगलिश भाषा में blogging, digital marketing, internet की जानकारी, क्या-कैसे, computer से सम्बंधित जानकारी उपलब्ध करतें है| 

6 comments:

  1. Agar main is essay ko exam main kar ka aaoga tho mujhe kitne number maligai plz bolo send me sms sms no:9350812082

    ReplyDelete
    Replies
    1. yahi sawal aap apne Class teacher se puche .. unka kiya ray hai....

      Delete
  2. very inspirational and good essay

    ReplyDelete
  3. It's really a nice and useful piece of information. I am happy that you shared this useful information with us. Please keep us informed like this. Thank you for sharing. yahoo email login

    ReplyDelete
  4. बहुत ही बढ़िया पोस्ट लिखा है आपने

    ReplyDelete